class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नाथगंज कांड में 5 दर्जन अज्ञात पर मामला दर्ज

गया जिले के नाथगंज में नक्सलियों द्वारा रल इंजन उड़ाने के मामले में पांच दर्जन अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। गौरतलब है कि इस घटना के बाद तकरीबन साढ़े पांच घंटे तक ट्रनों का परिचालन ठप रहा था। इस घटना में नक्सलियों ने दो चालकों समेत छह रलकर्मियों को भी बंधक बना लिया था। मालूम हो कि नक्सलियों ने नाथगंज रेलवे हाल्ट के समीप विस्फोट कर ट्रैक उड़ा दिया। खबर के आग आग की तरह फैलते ही ट्रेनों का परिचालन ठप कर दिया गया। रांची-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस सहित दर्जनभर ट्रेनों का जहां-तहां रोक दिया गया । तड़के जब यह संवाददाता घटनास्थल पर पहुंचा तो वहां सन्नाटा पसरा हुआ था। रेलकर्मी भयाक्रांत दिख रहे थे।ड्ढr ड्ढr पुलिस बल अपने काम में व्यस्त थे । इसी दौरान नक्सलियों के कब्जे से मुक्त हुए कैबिन मैन एस के हरि ने बताया कि करीब 10.30 बजे हथियारों से लैस कुछ लोग केबिन पर चढ़ गए और उन्हें कब्जे में कर लिया। साथ में माइक्रो कर्मचारी बी पी चौधरी, पोटर भोला सिंह एवं पोटर पुना को भी कब्जे में लिया गया था। लाल सिगनल कर नक्सलियों ने रेल ट्रैक किलोमीटर 4142 (डाउन) तथा 4141 (अप) पर बम का विस्फोट किया। इसी दौरान डाउन लाइन पर पत्थर लदी बोकारो स्टील सिटी साइडिंग स्पेशल मालगाड़ी रुकी। मालगाड़ी के इंजन के अगले कैंप में जबर्दस्त विस्फोट कर इंजन को क्षतिग्रस्त कर दिया। विस्फोट के पूर्व ट्रेन के चालक दिनेश कुमार , उप चालक आनंद कुमार (दोनों गोमो हेड क्वार्टर) को कब्जे में कर लिया। करीब छह घंटे बाद मुक्त किया गया। उन्होंने बताया कि हथियारबंद दस्तों ने कहा कि गढ़वा में मारे गए अपने साठ साथियों के प्रतिशोध में इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नाथगंज कांड में 5 दर्जन अज्ञात पर मामला दर्ज