DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लगातार सूख रही है भागीरथी की धारा

हिमालय में बहनेवाली गंगा की प्रमुख सहायक नदी भागीरथी लगभग 8 किलोमीटर की लंबाई में सूख गई है और इसकी धारा में पानी की जगह बालू दिखाई दे रहा है। गंगोत्री से निकलने वाली गंगा की अन्य सहायक नदियां भी लगभग इसी राह पर हैं। इनमें भिलंगाना, अस्सी गंगा और अलकनंदा भी शामिल हैँ। हाल में गुगल अर्थ द्वारा लिए गए सेटेलाइट चित्र में तो कम से कम ऐसा ही दीख रहा है। गुगल अर्थ पिक्चर के अनुसार, 2004 में भी सर्पिलाकार नदी भागीरथी अपनी एक किलोमीटर लंबाई में इसी तरह सूख गई थी। एक गैर सरकारी संगठन पानी मोर्चा के अध्यक्ष कोमोडोर सुरश्वर सिन्हा पिछले 16 वर्षो से गंगा बचाओ अभियान में सक्रिय हैं। उन्होंने ये चित्र सुप्रीम कोर्ट के तीन जजों की एक पीठ को इस महीने के शुरू में दिखाया। पीठ यह चित्र देखकर सन्न रह गई। सिन्हा ने 1में सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर कर यह बताया था कि गंगा कैसे कानपुर में खारा हो गई है और इसका प्राकृतिक प्रवाह भी खत्म हो गया है। सिन्हा ने कहा, ‘एक दशक पहले जब टिहरी डैम बननेवाला था, हमने यह चेतावनी दी थी कि इससे गंगोत्री ग्लेशियर से निकलनेवाली सभी प्रमुख नदियां समाप्त हो जाएंगी। भागीरथी गंगा की सहायक नदियों में सबसे बड़ी है। अगर इस तरह का सूखा नदियों में रहा तो आगे चलकर छोटी नदियों के हाल की कल्पना आप कर सकते हैं।’ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: लगातार सूख रही है भागीरथी की धारा