class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

..गोरा रंग काला न पड़ जाये

मौसम के मिजाज जरा तल्ख हैं। लिहाजा, घर की दहलीज से बाहर कदम रखते हुए सावधानी बरतने की जरूरत है। तेज धूप और गर्म हवाएं नरम-नाजुक त्वचा को नुकसान पहुंचा सकती हैं। अधिक समय तक तेज धूप में रहने पर त्वचा काली (सन टेनिंग) पड़ जाती है और नाक और गालों पर हल्के भूरे रंग के धब्बे पड़ जाते हैं। ऐसे में आवश्यक है कि गर्मियों में आवश्यक सावधानी बरती जाये, ताकि त्वचा संबंध समस्याएं पैदा न हों। राजधानी की कॉस्मेटिक सर्जन डॉ सरोज राय के अनुसार तेज धूप में त्वचा झुलस जाती है, जिसे ‘सनबर्न’ कहा जाता है। इसमें खुजली के साथ दर्द होने की शिकायत होती है। हाथ-पैरों में ज्यादा पसीना आना, घमौरिया, दिनाय का भी प्रकोप बढ़ जाती है। हेलमेट पहननेवाले लोगों का खासी परेशानी का सामना करना पड़ता है। हेलमेट की वजह से सिर में ज्यादा पसीना निकलता है, इससे बालों में रूसी, बाल झड़ने आदि की समस्या होती है। खुजली पैदा करनेवाले लाल चकत्ते, चेहरे पर मवाद युक्त फुंसिंयों की भी समस्याएं आम हैं। होंठ की मुलायम त्वचा भी सूख कर होकर फट जाती है। डॉ राय के अनुसार तेज धूप में निकलने से बचना चाहिए। अगर निकलना जरूरी हो, तो सूती और पूरी बांह के कपड़े पहनने चाहिए। वाहन चलानेवाली महिलाएं हाथों को सफेद दास्ताने और चेहरे को दुपट्टे से ढंकें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ..गोरा रंग काला न पड़ जाये