अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दारोगा बहाली: फिलहाल रोक से कोर्ट का इंकार

दारोगा बहाली की लिखित परीक्षा पर किसी प्रकार का अंतरिम आदेश देने से पटना हाईकोर्ट के इंकार के बाद इस परीक्षा को लेकर लंबे समय से जारी ऊहापोह शुक्रवार को खत्म हो गया। अब यह परीक्षा अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार शनिवार को शुरू हो रही है। चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के बीच करीब डेढ़ हाार पदों पर बहाली के लिए लिखित परीक्षा 1अप्रैल से 26 अप्रैल तक दो पालियों में पटना के 24 केन्द्रों पर होगी।ड्ढr ड्ढr प्रथम पाली सुबह 10.30 बजे से 12.45 बजे तक और दूसरी पाली अपराह्न् 2.30 बजे से 4.45बजे तक आयोजित की जाएगी। इस परीक्षा में 14 हाार से भी अधिक परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं। सभी परीक्षा केन्द्रों के बाहर धारा 144 लगा दी गई है। परीक्षा की तैयारी को लेकर राज्य कर्मचारी चयन आयोग के अध्यक्ष अनिल सिन्हा ने शुक्रवार को उच्चस्तरीय बैठक बुलाई। बैठक में पटना के जिलाधिकारी, वरीय पुलिस अधीक्षक, केन्द्रीय प्रक्षेत्र के आईाी और आईाी मुख्यालय उपस्थित थे। बैठक के बाद सिन्हा ने बताया कि नकल किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। नकल करते पकड़े जाने वाले परीक्षार्थी दूसरी किसी परीक्षा में बैठने के लिए अयोग्य घोषित कर दिए जाएंगे। परीक्षा केन्द्रों के औचक निरीक्षण के लिए उड़नदस्ते की व्यवस्था की गई है।ड्ढr ड्ढr इसके अलावा सुरक्षा बलों की भी पर्याप्त व्यवस्था की गई है। सिन्हा ने निर्देश दिया है कि वैसे पुलिसकर्मियों और अधिकारियों को इस परीक्षा में डय़ूटी नहीं दी जाए जिनके सगे-संबंधी इसमें शामिल हो रहे हों। अनिवार्य विषय की परीक्षा के दिन सभी परीक्षार्थियों को यह शपथपत्र देना होगा कि उन्होंने दो जगह से आवेदन नहीं किया है। यदि बाद में यह प्रमाणित हो जाता है कि उन्होंने दो जगहों से आवेदन किया है तो उनकी बहाली रद्द कर दी जाएगी। उधर पटना सदर के एसडीओ रावी रंजन कहा कि केंद्रों के आसपास गड़बड़ी न हो इसके लिए निषेधाज्ञा लागू कर दी गयी है। परीक्षा केंद्रों के आसपास 200 गज की परिधि के अंतर्गत निषेधाज्ञा का प्रभाव लागू रहेगा। इस दायर में पांच या पांच से अधिक व्यक्ितयों का गैरकानूनी जमाव, प्रदर्शन या जुलूस, धरना, घेराव व घातक अस्त्र-शस्त्र लेकर चलना वर्जित रहेगा। दूसरी ओर इस परीक्षा को लेकर कर्मचारी आयोग द्वारा दोहरी नीति अपनाए जाने के खिलाफ दायर रिट याचिका पर हाईकोर्ट ने शुक्रवार को सुनवाई की। आवेदक की ओर से वरीय अधिवक्ता राजेन्द्र प्रसाद सिंह के कुछ बोलने के पहले ही अदालत ने अपनी मंशा जाहिर कर दी। हालांकि अदालत ने इस मामले में आयोग को विस्तृत हलफनामा दायर करने का आदेश दिया। इसके पूर्व आयोग की ओर से महाधिवक्ता पी.के. शाही ने बताया कि आवेदक संख्या-2 को शारीरिक जांच परीक्षा में अनुत्तीर्ण होने के कारण उन्हें एडमिट कार्ड जारी नहीं किया गया है। शाही ने बताया कि असफल उम्मीदवार बहाली में अड़चनें पैदा करने के लिए मुकदमा दायर कर रहे हैं। मामले की अगली सुनवाई जून महीने के चौथे सप्ताह में होगी।ड्ढr ड्ढr इस परीक्षा के लिए शास्त्रीनगर बालिका उच्च विद्यालय, पटना कॉलेज, बांकीपुर बालिका उच्च विद्यालय, डीएवी पुनाईचक, डीएवी बाल्मी, डीएवी शास्त्रीनगर, डीएवी पाटलिपुत्र कॉलोनी, पटना कॉलेजिएट स्कूल, डीएवी कंकड़बाग, दयानंद विद्यालय मीठापुर, गंगा देवी महिला कॉलेज कंकड़बाग व टीपीएस कॉलेज, बीडी इवनिंग कॉलेज, मीठापुर, आर्य कन्या विद्यालय नयाटोला, एएन कॉलेज, द्वारिका हाई स्कूल मंदिरी, पीएन एंग्लो स्कूल नयाटोला, पटना हाई स्कूल, गर्दनीबाग व बीएन कॉलेज में भी परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दारोगा बहाली: फिलहाल रोक से कोर्ट का इंकार