DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कट्टरपंथ से निपटने में पाक के साथ अमेरिका

पाकिस्तान के अफगान सीमा से लगे इलाकों में कट्टरपंथियों से निपटने के मुद्दे पर मतभेद को दरकिनार करते हुए अमेरिका ने कहा कि वह कट्टरपंथ से निपटने की इस्लामाबाद की कोशिशों का हर संभव सहयोग करेगा। पाकिस्तानी नेतृत्व के साथ अमेरिकी अधिकारियों की बैठक के बाद सुरक्षा और खुफिया जानकारी के मुद्दे पर तनाव की रिपोर्ट के बारे में पूछे जाने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रॉबर्ट ए वुड ने बुधवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘‘हम यहां खुफिया जानकारी के मुद्दे पर बातचीत करने नहीं आए हैं।’’ अफगानिस्तान और पाकिस्तान के लिए विशेष अमेरिकी दूत रिचर्ड हॉलब्रुक और ज्वाइंट चीफ्स के चेयरमैन एडमिरल माइकल मुलेन ने सोमवार को पाकिस्तानी नेताओं से मुलाकात करने के बाद नई दिल्ली के रवाना हुए थे। अफगानिस्तान की सीमा से लगे पाकिस्तान के संघ प्रशासित कबायली इलाके में कट्टरपंथी ताकतों से निपटने को एक बहुत जटिल मुद्दा करार देते हुए वुड ने कहा, ‘‘हम पाकिस्तान के साथ काम करना चाहते हैं और पाकिस्तान के साथ कट्टरपंथ से निपटने के लिए हर संभव सहयोग करते आ रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि अमेरिका इसे जारी रखे हुए है। हालांकि उन्होंने कहा कि आगे बढ़ने के मुद्दे पर समय-समय पर अलग-अलग विचार आए हैं। लेकिन इस तरह के रिश्तों में यह एक समान्य चीज है, विशेषकर तब जब आप बहुत ही जटिल समस्या पर काम कर रहे होते हैं। हॉलब्रुक और मुलेन की पाकिस्तानी अधिकारियों के साथ बैठक को बहुत अच्छा करार देते हुए वुड ने कहा कि उन्होंने पाक सेना प्रमुख जनरल अश्फाक परवेज कयानी और खुफिया एजेंसी आईएसआई के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल अहमद शुजा पासा से भी मुलाकात की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कट्टरपंथ से निपटने में पाक के साथ अमेरिका