अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अंजुमन इसलामिया का चुनाव नये सिर सेसंवाददाता

बिहार राज्य सुन्नी वक्फ बोर्ड ने नये सिर से अंजुमन इस्लामिया रांची के पदाधिकारी का चुनाव कराने का फैसला लिया है। चुनाव कराने के लिए 28 अप्रैल तक निगरा कमेटी का गठन किया जायेगा। कमेटी गठन की प्रक्रिया शुरु कर दी गयी है। कमेटी में रांची के स्थानीय लोगों को ही रखा जायेगा। बोर्ड के प्रशासक एम अनवर ने रविवार को दूरभाष पर इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि गठित होने वाली निगरा कमेटी के सदस्यों को एक वर्ष के भीतर अंजुमन इस्लामिया का निष्पक्ष ढंग से चुनाव कराने का निर्देश दिया जायेगा। वैसे अंजुमन इस्लामिया ने पिछले दिनों निगरां कमेटी गठन कर चुनाव करवाया था। बोर्ड ने इस चुनाव को अवैध माना है। इस कमेटी ने बोर्ड से बिना अनुमति लिये ही अंजुमन इस्लामिया का चुनाव करवा दिया। बोर्ड को अवैध रूप से चुनाव कराने की शिकायत भी मिली थी। इस पर बोर्ड ने चुनाव कराने पर रोक लगा दी थी। इस संबंध में उपायुक्त से भी चुनाव रोकने का आग्रह किया था। डीसी ने अपनी रिपोर्ट में निर्धारित स्थल पर चुनाव नहीं होने की रिपोर्ट दी थी। उन्होंने बताया कि चुनाव संबंधी जानकारी के लिए बोर्ड द्वारा पयव्रेक्षक नियुक्त किये गये थे। पर्यवेक्षक के रिपोर्ट के आधार पर बोर्ड ने उक्त निर्णय लिया है। बोर्ड को निगरा कमेटी गठन करने का अधिकार नहीं: अध्यक्ष रांची। अंजुमन इस्लामिया के अध्यक्ष हाजी नेसार ने कहा है कि बिहार सुन्नी वक्फ बोर्ड को निगरा कमेटी गठन करने का अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा है कि अंजुमन इस्लामिया के पदाधिकारियों का कार्यकाल दिसंबर 2008 तक ही है। इस दौरान अगर बोर्ड कमेटी गठन करती है तो इसके विरूद्ध हम लोग न्यायलय जायेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अंजुमन इसलामिया का चुनाव नये सिर सेसंवाददाता