DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आकाश के बदले मांगी दस लाख रुपए की फिरौती

शास्त्रीनगर थाना क्षेत्र से गत वर्ष 10 अगस्त को अगवा किए गए डीएवी स्कूल के छात्र आकाश उर्फ अंशु की रिहाई के बदले अपहर्ताओं ने उसके परिानों से 10 लाख रुपए फिरौती की मांग की है। अपहर्ताओं ने घटना के नौ माह बाद तब फिरौती मांगी है जब पुलिस इस मामले में अनुसंधान का काम प्राय: बंद कर चुकी है। पुलिस ने अपहर्ताओं का सुराग देने वाले को एक लाख रुपये के इनाम की घोषणा की थी पर उसका भी कोई फायदा नहीं हुआ था। अचानक रविवार को उसके पिता को फिरौती के लिए मिले पत्र ने सनसनी फैला दी है।ड्ढr ड्ढr सुबह मकान के मुख्यद्वार में यह पत्र खोंसकर रखा गया था। अंदाज लगाया जा रहा है कि अपहर्ताओं ने तड़के या रात में ही किसी माध्यम से पत्र को वहां तक पहुंचवाया। पत्र में लिखा गया है कि ‘तुम्हारा बेटा हमलोगों के कब्जे में है तथा अभी तक सुरक्षित है। तुम दस लाख रुपए का इंतजाम कर एक हाथ पैसा दो और बेटा वापस ले जाओ।’ पुलिस को इसकी सूचना देनेपर पछताने की बात भी कही गई है। इस पत्र से आकाश के माता-पिता को जहां अपने बेटे के जिन्दा होने का विश्वास हो आया है वहीं एक भारी भरकम राशि की मांग से बेचैनी भी बढ़ गई है। बेटे के अपहरण के बाद से ओझा-गुणी व पंडित-मौलवी के चक्कर में अबतक डेढ़ लाख रुपए के र्कादार बन चुके योगेन्द्र व उनकी पत्नी अंजु पाण्डेय ने कहा कि अगर कोई आकाश से उनकी बात करा दे और उन्हें विश्वास हो जाए कि उनका बेटा सुरक्षित है तो खून बेचकर भी वह रुपयों की व्यवस्था करंगे। अपहरण की घटना के कुछ दिन बाद भी आकाश के पिता को एक पत्र मिला था जिसमें किसी अज्ञात व्यक्ति ने अपने को उनका शुभचिन्तक बताते हुए कहा था कि अपहर्ताओं ने दस लाख रुपए के लिए उनके बेटे का अपहरण किया है। इधर सिटी एसपी अनवर हुसैन ने कहा कि कथित अपहर्ताओं द्वारा फिरौती की मांग दिगभ्रमित करने वाली प्रतीत होती है। उन्होंने कहा कि इतने दिनों बाद फिरौती की मांग संदेह पैदा करने वाली बात है, फिर भी पुलिस सारी स्थितियों पर नजर रख रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आकाश के बदले मांगी दस लाख रुपए की फिरौती