DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सपाई जबरन उठा ले गए कक्ष निरीक्षकों का परिचय पत्र

जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में बुधवार को सत्ता पक्ष की दबंगई देखने को मिली। सपाई जबरन कक्ष निरीक्षकों का परिचय पत्र उठा ले गए। विरोध करने पर कार्यालय के कर्मचारियों को भी धमकी दी। डीआईओएस कार्यालय में सपाइयों की दबंगई की चर्चा दिनभर बनी रही।

दोआबा में नकल विहीन परीक्षा कराने का शिक्षा विभाग के सपनों पर पानी फिर सकता है। उसकी वजह यह है कि सत्ता पक्ष के लोग अपनी दबंगई पर उतर आए हैं। उन्हें किसी बात की फिक्र नहीं है। बुधवार को सुबह तकरीबन 11:30 बजे डीआईओएस कार्यालय में बेतरतीब तरीके से रखे कक्ष निरीक्षकों के परिचय पत्र को दो व्यक्ति उलट-पलट रहे थे। पूछने पर एक ने बताया कि वह अपने स्कूल के कक्ष निरीक्षकों का परिचय पत्र खोज रहा है।

इसका कार्यालय के कर्मचारियों ने विरोध किया तो उसने अपने आपको सपा अल्प संख्यक प्रकोष्ठ का पदाधिकारी बताया। इसके अलावा धमकी दी कि विरोध करोगे तो अंजाम बुरा होगा। इतना ही नहीं जब मीडिया कर्मियों ने सवाल-जवाब किया तो वह मीडिया कर्मियों से भी भिड़ गया। ऐसे में साफ जाहिर है कि जब सत्ता पक्ष के लोग जबरन कार्यालय से कक्ष निरीक्षकों का परिचय पत्र उठा ले जाते हैं तो कैसे नकल रुक सकेगी। परिचय पत्र ले जाकर वह शिक्षकों की फोटो बदलकर अपने आदमी की फोटो लगा सकते हैं। जिसकी पहचान करना शिक्षा विभाग को टेढ़ी खीर साबित हो सकती है।

मामले में डीआईओएस राजशेखर सिंह से बात की गई तो उन्होंने कहा कि कक्ष निरीक्षकों का परिचय पत्र सिर्फ केंद्र व्यवस्थापक को ले जाने की जिम्मेदारी है। इसके अलावा अन्य कोई नहीं ले जा सकता है। परिचय पत्र ले जाने से पहले रिसीविंग देना पड़ती है। कहा कि वह इस मामले में वह पता करवाएंगे।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सपाई जबरन उठा ले गए कक्ष निरीक्षकों का परिचय पत्र