अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

12 घंटे के बंगाल बंद से जनजीवन अस्त-व्यस्त

पश्चिम बंगाल में अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस (एआईटीसी) और सोशलिस्ट यूनिटी सेंटर ऑफ इंडिया (एसयूसीआई) के संयुक्त आह्वान पर सोमवार को 12 घंटे के रायव्यापी बंद से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। बंद का आह्वान आवश्यक वस्तुआें की बेतहाशा बढ़ती कीमतों, नंदीग्राम में तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी के काफिले पर भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के कार्यकर्ताआें द्वारा हमले और एक महिला के साथ कथित सामूहिक बलात्कार के विरोध में किया गया था। बंद समर्थकों द्वारा कई स्थानों पर रेल पटरियों को बाधित करने से हावड़ा और सियालदह संभागों में लंबी दूरी और उपनगरीय रेल सेवाएं प्रभावित हुई हैं। इसके अलावा सड़कें भी वीरान रहीं। भूमिगत मेट्रो रेल सेवाएं और हवाई सेवाएं बंद से अप्रभावित रहीं। हवाई अड्ड़ा के अधिकारियों ने बताया कि नेता जी सुभाष चन्द्र बोस हवाई अड्डे पर विमानों ने नियमित उड़ानें भरी। कोलकाता में यादातर क्षेत्रों में दुकानें, व्यावसायिक प्रतिष्ठान और बाजार बंद रहे। निजी कार्यालय और वित्तीय संस्थाआें में भी कामकाज नहीं हुए और शैक्षणिक संस्थाआें में छुट्टी घोषित कर दी गई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 12 घंटे के बंगाल बंद से जनजीवन अस्त-व्यस्त