अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देश, राज्य को ही नहीं बांटा भाइयों को भी किया जुदा

युवराज की पंजाब इलेवन और धोनी की चेन्नई टीमों के बीच मुकाबला चल रहा था। गेंद थी चेन्नई टीम के सुपर स्टार फिरकी के जादूगर मुथैया मुरलीधरन के हाथ में। सामने बल्लेबाजी कर रहे थे कुमार संगकारा। जिन्हें मुरली की गेंद पर विकेट के पीछे होना चाहिए था वे विकेट के सामने बल्लेबाजी कर रहे थे। दिल्ली में ग्लेन मैकग्रा और शेन वॉर्न आमने-सामने थे। देखा क्रिकेट किस दिशा में जा रहा है। एक ही देश के खिलाड़ी एक-दूसर के खिलाफ खड़े हैं। इतना ही नहीं दिल्ली के क्रिकेटर कोलकाता में खेल रहे हैं तो मुम्बई के राजस्थान में। पंजाब के हरभजन सिंह ने तो सचिन तेंदुलकर के फिट न होने के चलते मुम्बई टीम की कप्तानी भी की।ड्ढr इतना तक तो ठीक है। इस आईपीएल ने देशों, राज्यों और टीमों को ही नहीं बांटा भाइयों तक को बांट कर रख दिया है। भारत में चल रही पहली आईपीएल 20-20 में भाइयों की तीन जोड़ियों खेल रही हैं। इरफान-यूसुफ पठान, एल्बी-मोर्नी मोर्कल और डेविड-माइक हसी। खास बात यह है कि ये सभी भाई अलग-अलग टीमों में खेल रहे हैं। भारत के पठान बंधु (इरफान और यूसुफ) बड़ौदा रणजी टीम के बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी साथ-साथ खेले लेकिन आईपीएल ने इन दोनों भाइयों को जुदा कर दिया। इरफान जहां प्रीति जिंटा की टीम में हैं तो उनके भाई यूसुफ को शेन वॉर्न की टीम में जगह मिली। यूसुफ ने कहा भी था, हमेशा लोग यही कहते थे कि मैं इरफान का भाई हूं। मैं भी अपनी एक अलग पहचान बनाना चाहता था। हमने साथ-साथ बहुत क्रिकेट खेला। अब समय आया है आमने-सामने होने का। सच कहूं तो खेल में कोई भाईचारा नहीं। जब आप एक-दूसर के खिलाफ खेल रहे हैं तो आप भाई नहीं बल्कि प्रतिद्वंद्वी हैं।इसी तरह ऑस्ट्रेलिया के डेविड और माइक हसी नॉटिघमशायर में एक साथ खेलते हैं। ग्लैमर और पैसे से भरपूर आईपीएल ने इन दोनों ऑस्ट्रेलियाई बंधुओं को भी जुदा कर दिया। हां, यह अलग बात है कि दोनों ही अपनी-अपनी टीमों के स्टार बने हुए हैं। माइक हसी जहां माही की चेन्नई टीम में हैं वहीं डेविड हसी को बॉलीवुड के सुपर स्टार किंग खान ने अपने टीम में रखा है। हसी बंधुओं में माइक (3,50,000 डॉलर) ने ज्यादा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला है लेकिन आईपीएल में डेविड (6,25,000 डॉलर) को उनसे दुगुने पैसे में शाहरुख खान ने अपनी टीम में लिया। ऑक्शन में जब डेविड को उनसे दुगुने पैसे मिले थो तो माइक ने उन्हें एसएमएस किया। उसमें उन्होंने कहा था कि मुझे विश्वास नहीं हो रहा है कि मेर इतने अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने के बावजूद तुम्हें मुझसे दुगुनी राशि मिली। आईपीएल में जुदा होने वाली तीसरी जोड़ी है दक्षिण अफ्रीका के मोर्कल बंधुओं की। एल्बी मोर्कल (6,75,000 डॉलर) जहां माही के साथ हैं वहीं हाल ही में भारत के खिलाफ घरलू सीरीा में शानदार प्रदर्शन करने वाले मोर्नी मोर्कल सबसे कम दाम (60 हाार अमेरिकी डॉलर) में राजस्थान टीम के साथ जुड़े थे। दोनों भाई दक्षिण अफ्रीका के अलावा टाइटंस, ईस्टर्न और अफ्रीका-इलेवन में साथ-साथ खेलते रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: देश को ही नहीं बांटा भाइयों को भी किया जुदा