DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सर्जरी न कराते तो आकर्षक होते माइकल जैक्सन

सर्जरी न कराते तो आकर्षक होते माइकल जैक्सन

आकर्षक और मुस्कान से भरा चेहरा। यह पहचान होती दिवंगत पॉप स्टार माइकल जैक्सन के व्यक्तित्व की अगर वह कॉस्मेटिक सर्जरी न कराते। यह खुलासा मार्टिन बशर नई डॉक्युमेंट्री ‘10 फेस ऑफ माइकल जैक्सन’ में किया गया। इसमें ग्रॉफिक्स की मदद से माइकल का वह काल्पनिक रूप बनाया गया है, जो सर्जरी कराने के चलते बिगड़ गया।

लघु फिल्म में दिखाया गया है कि शुरुआत में माइकल सिर्फ अपनी नाक सही कराना चाहते थे। पर बाद में बोटॉक्स, त्वचा ब्लीच, गालों के प्रत्यारोपण और होठों के ऑपरेशन के कभी न खत्म होने वाले जाल में फंस गए। इनमें से कुछ सर्जरी के लिए डॉक्टरों की गलती जिम्मेदार रही। इस तरह उनका पूरा चेहरा बिगड़ गया और वह कॉस्मेटिक सर्जरी के दुष्प्रभाव के सबसे बदनाम उदाहरण बन गए।

बिगड़ता गया चेहरा
1979 में पहली बार सर्जरी करा नाक सही कराई 
1983 में गोरा बनाने वाला मेकअप शुरू किया
1991 में पांचवीं सर्जरी के बाद नाक पतली हो गई
1995 में लगातार ब्लीचिंग से नाक भी बिगड़ गई
2003 तक महिलाओं जैसा हो चुका था चेहरा

लघु फिल्म
- मार्टिन बशर ने बनाई लघु फिल्म ‘10 फेस ऑफ माइकल जैक्सन’
- कंप्यूटर ग्रॉफिक्स से दिखाया अगर माइकल सर्जरी न कराते तो कैसे दिखते

दर्दनाक
100 सर्जरी कराई माइकल जैक्सन ने अपने जीवन में
30  साल बिता दिए बेहतरीन लुक पाने की कोशिश में

अपने पिता जैसे चेहरे से करते थे नफरत
माइकल का चेहरा उनके पिता से मिलता था, जिनसे वे नफरत करते थे। इसलिए वह चेहरे से पिता के निशान मिटाना चाहते थे। वह अपनी आदर्श गायिका डायना रोज जैसा भी चेहरा चाहते थे। वहीं उन्हें अपनी नाक भी पसंद नहीं थी। अपने चेहरे के ढेर सारे मुहांसों को देखकर वह रोते थे। एक बार उन्होंने यह भी दावा किया था कि उन्होंने नाक की सर्जरी इसलिए कराई ताकी वह बेहतर तरीके से गा सकें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सर्जरी न कराते तो आकर्षक होते माइकल जैक्सन