DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

18 साल बाद मिलेगा सरबजीत घरवालों से

लाहौर की कोट लखपत जेल में पिछले 17 सालों से फांसी का इंतजार कर रहे भारतीय नागरिक सरबजीत सिंह का परिवार उनसे मिलने के लिए बुधवार को लाहौर पहुंच गया। दोपहर को यह परिवार पाकिस्तानी सीमा में प्रवेश कर गया था। दोपहर में बाघा सीमा पार करने के तुरंत बाद सरबजीत की पत्नी सुखप्रीत कौर और उसकी बेटियों- स्वप्नदीप और पूनम ने कहा कि वे निर्दोष हैँ और गलती से पाकिस्तानी सीमा में चले गए थे। इन्होंने कहा कि उन्हें वहां 10 में हुए चार बम विस्फोटों में फर्ाी तरीके से फंसाया गया जिसमें उन्हें फांसी की सजा मिली है। इन विस्फोटों में पंजाब प्रांत में 14 लोग मार गए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 18 साल बाद मिलेगा सरबजीत घरवालों से