DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विदेशों में बीमा सहित नौकरी दिलाएगी सरकार

बिहार सरकार बेरोजगारों को विदेशों में नौकरी दिलाएगी। विदेश में नौकरी करनेवालों का 15 लाख का बीमा भी सरकार करेगी जिसका दो प्रीमियम राज्य सरकार भुगतान करेगी। प्रवासी मजदूरों की मौत होने पर विभाग अलग से एक लाख रुपए भी देगी।

पटना के शहीद देवीपद स्मारक (मिलर) हाईस्कूल में श्रम विभाग की ओर से आयोजित एक दिवसीय पटना प्रमंडलीय स्तर नियोजन मेले में यह घोषणा श्रम मंत्री दुलाल चन्द्र गोस्वामी ने की। मंत्री ने कहा कि विभाग ने समुद्री नियोजन ब्यूरो खोला है। विदेशों से विभाग के पास 19 रिक्तियां आई हैं आवेदन मात्र छह ही आए हैं।

वीजा व पासपोर्ट के आधार पर विभाग को आवेदन करें तो विदेशों में विभाग नौकरी दिलाएगी। 25 हजार डॉलर (15 लाख) का बीमा होगा जिसमें पहला प्रीमियम आठ हजार सरकार देगी। दूसरे साल चार हजार प्रीमियम सरकार देगी और बाकी के सभी प्रीमियम खुद नौकरी करने वालों को देना होगा।

किसी तरह की घटना होने पर विदेशों में काम करनेवालों को 15 लाख दिया जाएगा। इसके अलावा प्रवासी मजदूरों की मौत पर बिहार देश का पहला राज्य है जो एक लाख रुपए दे रही है। पूर्ण विकलांगता में 75 हजार व आंशिक विकलांग में साढ़े 37 हजार दिया जा रहा है। केंद्र सरकार से मांग है कि वह प्रवासी मजदूरों की मौत पर पांच लाख रुपए दे।

15 दिनों के भीतर सम्मान पोर्टल 
मंत्री ने कहा कि बेरोजगारों की सुविधा के लिए शीघ्र ही एक सम्मान पोर्टल बनाया जाएगा। विभाग के इस पोर्टल पर सभी कंपनियों का पंजीकरण होगा और बेरोजगार ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। 15 दिनों के भीतर यह सुविधा शुरू होगी। राज्य, प्रमंडल व जिलास्तर पर अब तक 55 नियोजन मेला लग चुका है।

इस साल अब तक 81735 लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया जा चुका है। 31 मार्च तक का लक्ष्य एक लाख एक हजार है। अधिकारियों को निर्देश दिया कि सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी देने वाली कंपनियां बेरोजगारों से पोशाक के नाम पर पैसे न लें। उनका इएसआई व पीएफ कटे, सुनिश्चित करें। लड़कियों के पिता से अपील करते हुए कहा कि गुणवत्ता के आधार पर शादी-ब्याह करें।

मासिक पत्रिका में रिक्तियां
श्रम सचिव डॉ एस सिद्धार्थ ने कहा कि विभाग एक मासिक श्रम पत्रिका निकालेगी जिसमें रिक्तियों की जानकारी रहेगी। सरकार की मंशा सबों को रोजगार उपलब्ध कराना है। निदेशक (नियोजन एवं प्रशिक्षण) अजय कुमार चौधरी ने कहा कि स्किल डेवलपमेंट का काम हो रहा है। सबों को हुनरमंद किया जाएगा।

शिक्षा ग्रहण करें लेकिन तकनीकी योग्यता का प्रमाण पत्र जरूर रखें। कार्यक्रम में बिहार बाल श्रमिक आयोग के अध्यक्ष चंदेश्वर प्रसाद चंद्रवंशी व उपाध्यक्ष अनिता सिन्हा, बचपन बचाओ आंदोलन के एम हक व उप निदेशक निर्मल कुमार झा ने अपने विचार रखे। संचालन सरिता सिन्हा व धन्यवाद ज्ञापन अच्छे लाल ने किया।

रिकॉर्ड 7302 को रोजगार
विभाग की ओर से बीते छह सालों से लग रहे नियोजन मेला का रिकार्ड पटना में बृहस्पतिवार को टूटा। 38 कंपनियों ने 7302 लोगों को रोजगार दिया। 13835 लोगों ने नौकरी के लिए कंपनियों के पास आवेदन दिए थे। पिछला रिकॉर्ड पटना का ही था जो पटना विवि में 25 नवंबर को लगा था। उस दिन 5628 लोगों को श्रम विभाग ने रोजगार दिलाए थे।

23 जनवरी को आरा के रमना मैदान में नियोजन मेला लगेगा। इसके बाद फरवरी व मार्च में नियोजन मेला लगेगा। मार्च में एक बार फिर पटना में नियोजन मेला लग सकता है।

फार्म की परेशानी
बेरोजगार युवकों को फार्म के लिए परेशानी रही। कुछ बाहरी लोगों ने फार्म के नाम पर एक से तीन रुपए तक वसूले। हालांकि, आवेदकों को हाथ से लिखा भी आवेदन पत्र देना था। शैक्षणिक प्रमाण पत्रों की फोटोकॉपी कराने में भी लोग परेशान दिखे। नौकरी मिलने वाले खुश हुए तो नहीं मिलने वाले मायूस रहे। कुछ लोगों ने यह भी कहा कि सिक्योरिटी गार्ड या इंश्योरेंस कंपनियां अधिक आई हैं।

ये कंपनियां आईं
एसएलवी सिक्योरिटी प्राइवेट लिमिटेड, रिलायंस लाइफ इंश्योरेंस, भारत इंडस्ट्रीज लगार्ड सर्विस, अर्षित स्पाइनिंग मिल, अलाकृति सर्विसेज, सिक्योरिटी एंड इंटेलीजेंस सर्विसेज, आरएसडब्ल्यूपी लिमिटेड, संगम इंडिया लिमिटेड, नेशनल इंश्योरेंस कंपनी, पी इंटेलीजेंस सिक्योरिटी, ऋषभ ऑटोमोबाइल, एलआइसी ऑफ इंडिया, शिव शक्ति बायोटेक, आईडीबीआई, एजटेक टेक्नोलॉजी, साईं बायोटेक, टाटा एआईए लाइफ, एचडीएफसी लाइफ, नहर स्पाइनिंग मिल, पीपल ट्री वेंचर प्राइवेट लिमिटेड, भारती एक्सा, नवभारत फर्टिलाइजर, निशा सिक्योरिटी, यूरेका फोर्ब्स, राजराय सेक्योरेक्स प्राइवेट लिमिटेड, सेफएक्सप्रेस प्राइवेट लिमिटेड, कोटक महिंद्रा लाइफ इंश्योरेंस कंपनी, स्कील फूड्स प्राइवेट लिमिटेड, सोडेक्सो, एक्साइड लाइफ, रेमंड, एसएलवी, एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस, स्कॉर्पिस इंडिया व उज्जीवन फाइनेंसियल सर्विस।

वर्षवार नियोजन मेला
वित्तीय वर्ष                    कंपनियां आईं              आवेदन आए           रोजगार मिला
2008-09                           279                        529141                16092
2009-10                           205                        178896                19335
2010-11                           735                        181075                 66244
2011-12                           469                         86348                  33114
2012-13                           807                        195194                 66594
2013-14                           937                        123220                 50164
12 जनवरी 2015 तक          995                        178703                 81735
कुल                                  4427                       1472577               333278

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विदेशों में बीमा सहित नौकरी दिलाएगी सरकार