class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हर रोचा कर रहे100 शिकार

राजधानी के लोग आवारा कुत्तों से परशान हैं। सदर अस्पताल की एंटी रेबिज ओपीडी में प्रतिदिन 80 से 100 मरीा पहुंच रहे हैं। ओपीडी के आंकड़ों के अनुसार पिछले वर्ष 526लोगों को कुत्ते ने काटा। इस साल अब तक 1113 लोग कुत्तों के शिकार बन चुके हैं। यह सरकारी आंकड़ा है। सिविल सर्जन डॉ श्याम सुंदर सिंह ने बताया कि नगर-निगम और एनिमल-हसबैंडरी विभाग को कई बार त्राहिमाम पत्र लिख कर आवारा कुत्तों को पकड़ने की गुहार लगायी है। पर अब तक इसपर पहल नहीं हुई है। एक अनुमान के मुताबिक राजधानी में करीब 30 हाार अवारा कुत्ते हैं। कुत्ता काटने से पीड़ित मरीाों को पिछले साल 14,346 वायल एंटी रबिज इंजेक्शन दिये गये। इस साल 2618 वायल एंटी रबिज इंजेक्शन मरीाों को दिये गये हैं। एक वायल इंजेक्शन का मूल्य 231 रुपये है। एक मरीा को पांच इंजेक्शन दिये जाते हैं। पशु चिकित्सक डॉ आर सिंह के अनुसार ‘रनिंग आब्जेक्ट’ से पीड़ित कुत्तों में दौड़ कर काटने की बीमारी होती है। ये दोपहिया वाहनों या साइकिल सवार को दौड़ कर काटते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हर रोचा कर रहे100 शिकार