DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुराने खेल, बढ़ाते मेल

दुर्घटना के लिए जिम्मेदार राजधानी दिल्ली में रो औसतन 5-7 व्यक्ित सड़क दुर्घटनाओं में मार जाते हैं। ये दुर्घटनाएं विभिन्न कारणों से होती हैं। जसे सड़क पर गड्ढे का होना, ट्रैफिक सिग्नल का सुचारु रूप से काम न करना। इसके साथ ही भीड़भाड़ वाले चौराहे पर अवांछित तत्वों का जमावड़ा मुख्य रूप से प्रभावित यातायात को प्रभावित करता है। ओम दत्त चावला, नई दिल्ली जुबान संभाल के देश के चुनावी महाभारत के दौरान नेतागण के स्तरहीन शब्दावली ने मर्यादा की सारी हदें लांघ दी हैं। अफसोस यह कि कुछ युवा नेता जो चुनावी अखाड़े में नए-नए उतर हैं, वे भी जहर उगलने से बाज नहीं आए और उनके राजनैतिक मार्गदर्शक उन्हें ‘जुबान को लगाम दो’ का सबक के बजाए उनकी घृणा की आग को और हवा दे रहे हैं। डॉ. आर. के. मल्होत्रा, अलकनंदा, नई दिल्ली स्वागत योग्य फैसला देश की सर्वोच्च अदालत सिने स्टार संजय दत्त को चुनाव लड़ने की क्षाजत न देकर न केवल एक स्वागतयोग्य कदम उठाया है, अपितु एक गलत परंपरा को शुरू होने से भी रोका है। यूं भी लोकतंत्र को अपराधियों के चंगुल से बचाने के लिए उठ रहे अदालती डंडे कारगर सिद्ध हो रहे हैं। खर। देखना दिलचस्प होगा कि राजनीति में फेल हुए मुन्ना भाई कौन सा खेल खेलते हैं। हर्षवर्धन कुमार, दिल्ली बच्चों का इस्तेमाल क्यों? स्लमडॉग मिलिनियर फिल्म के बाल कलाकारों रूबीना व अजरूद्दीन मोहम्मद तथा वृतचित्र स्माइल पिंकी की बाल कलाकार पिंकी द्वारा चुनाव प्रचार क्यों कराया जा रहा है। एक ओर सरकार फिल्म निर्माताओं एवं निर्देशकों को नोटिस जारी कर उन पर दबाव बना रही है कि वे बाल कलाकरों का इस्तेमाल न करं, दूसरी ओर स्वयं की बनाई गई नीतियों का उल्लंघन कर रही है। क्या सरकार यह समझ बैठी है कि चाय की दुकान पर काम करना, बाल कलाकारों द्वारा नाटक में भूमिका अदा करना तथा चुनाव प्रचार में बच्चों का इस्तेमाल करना अलग किस्म के बाल श्रम हैं? अंकित सिंघल, मंगोलपुरी, नई दिल्ली क्रिकेट भारत ने दुनिया कोड्ढr क्रिकेट का मतलबड्ढr समझा दिया है,ड्ढr इंग्लैंड-न्यूजीलैंडड्ढr सबका बैण्ड बजा दिया है। रामअवतार बैरवा, दौसा, राजस्थान

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पुराने खेल, बढ़ाते मेल