अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चीयर लीडर्स पर नेताओं के अपने-अपने राग

विवादों के साये में शुरू हुई इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) को एक नये विवाद ने घेर लिया है। यह विवाद चीयर लीडर्स के रूप में मैचों के दौरान रंग-बिरंगे कपड़े पहनी फिरंगी युवतियां और उनके नृत्य को लेकर है। चीयर लीडर्स के बारे में नेताओं ने अलग-अलग राय व्यक्त की है। प्रमुख विपक्षी दल भाजपा के सांसदों ने चीयर लीडर्स का विरोध किया और उसके औचित्य पर सवाल खड़ा किया। भाजपा सांसद सुमित्रा महाजन ने कहा कि इस प्रकार के नृत्य की कोई आवश्यकता ही नहीं है। यह हमारी संस्कृति के खिलाफ भी है। महाजन ने नृत्य करने वाली इन बालाओं के लिए लीडर शब्द इस्तेमाल किये जाने पर भी आपत्ति जताई। इन सबके बीच केंद्रीय महिला व बाल विकास मंत्री रेणुका चौधरी ने चीयर लीडर्स का पुरजोर समर्थन किया और कहा कि इसमें किसी को आपत्ति नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पुलिस व सेना से जुड़े कार्यक्रमों में महिलाएं नांच सकती हैं तो आईपीएल के दौरान क्यों नहीं। कांग्रेस के राज्य सभा सदस्य राजीव शुक्ला ने भी चीयर लीडर्स का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि इसमें बुराई क्या है। मनोरंजन के इस तरीके को मूल्यों और नैतिकता से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए। समाजवादी पार्टी के महासचिव अमर सिंह ने भी चीयर लीडर्स का विरोध किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चीयर लीडर्स पर नेताओं के अपने-अपने राग