अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

15 फीसदी पर समझौता के लिए तैयार है प्रबंधन

अंतरिम राहत पर समझौता हो जाने पर इस मामले में सीटू के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ एमके पंधे के पत्र लिखने पर कोल इंडिया चेयरमैन पार्थ भट्टाचार्य बिफर गये हैं। उन्होंने कहा है कि वे चाहते हैं, तो बेसिक और डीए के 15 फीसदी पर प्रबंधन आठवां वेतन समझौता करने को तैयार है। इस पर जेबीसीसीआइ की अगली बैठक में चर्चा हो सकती है। डॉ पंधे ने 12 अप्रैल को चेयरमैन को पत्र लिखा था। इसमें सीजीएम ए कुंडू के पत्र के अलोक में डीए पर भी 15 फीसदी आइआर देने की मांग उठायी थी। उन्हें 18 अप्रैल को जवाब में कहा गया कि बेसिक पर 15 फीसदी आइआर देने का निर्णय नौ अप्रैल को जेबीसीसीआइ में हुआ। इसीएल और बीसीसीएल को छोड़ सभी कंपनियों को बेसिक और डीए का प्रोविजन फाइनल वेतन समझौता के उद्देश्य से करने को कहा गया है। उक्त कंपनियों के बीआइएफआर में होने के कारण उन्हें बाहर रखा गया है। आइआर के समझौते पर डॉ पंधे ने भी हस्ताक्षर किये हैं। उस वक्त इसे कम बताते हुए इंटक के चंद्रशेखर दुबे और ओपी लाल ने हस्ताक्षर करने से इंकार कर दिया था। उन्होंने 40 फीसदी आइआर की मांग की है। मशाल जुलूस आज दी जेसीएमयू के तत्वावधान में 25 अप्रैल को मशाल जुलूस निकाला जायेगा। संगठन के एस चटर्ाी ने बताया कि जुलूस गांधीनगर कालोनी से शाम छह बजे निकलेेगा। अस्पताल, आइओएमएच से होते हुए सीएमपीडीआइ गेट के समीप समाप्त होगा। मौके पर आम सभा भी होगी। आरएलसी ने नोटिस भेजा 28 अप्रैल को प्रस्तावित हड़ताल को लेकर आरएलसी ने दी झारखंड कोलियरी मजदूर यूनियन को नोटिस भेजा है। उन्हें 25 को तीन बजे वार्ता के लिए बुलाया है। महासचिव सनत मुखर्जी ने बताया कि यूनियन सदस्य इसमें भाग नहीं लेंगे। सभा का दौर जारी कोल इंडिया में प्रस्तावित हड़ताल को सफल बनाने के लिए व्यापक पैमाने पर यूनियन के सदस्य सभा कर रहे हैं। गुरुवार को उन्होंने केडीएच, रोहिणी, करकट्टा, डकरा, चूरी, राय-बचरा, पिपरवार और अशोका प्रोजेक्ट में सभा की। यह जानकारी एम आलम ने दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 15 फीसदी पर समझौता के लिए तैयार है प्रबंधन