DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महिला ब्रिगेड ने रल चक्का जाम किया

राष्ट्रीय महिला ब्रिगेड के राष्ट्रीय अध्यक्षा अनीता सिन्हा के आह्वान पर महिला ब्रिगेड के सदस्यों ने गुरुवार की सुबह लगभग तीन घंटे तक संपूर्ण रल परिचालन को ठप कर दिया। महिला ब्रिगेड के प्रदेश महासचिव पुष्पा पांडेय के नेतृत्व में ब्रिगेड की सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने सुबह 5 बजे से ही रल का जाम करने हेतु पोस्टर एवं बैनरों के साथ रलवे ट्रैक पर जमा हो गयी एवं लाल किला एक्सप्रेस को अप लाईन पर रोक दिया।ड्ढr ड्ढr महिला कार्यकर्ता सैकड़ों की संख्या में ‘संसद में दो महिलाओं को अधिकार, नहीं तो देगें गर्दा झाड़’ ‘महंगाई रोको बांधो दाम नहीं तो रहेगा चक्का जाम’ ‘एक नहीं हम लाखों में हैं, देखना है जगह कितनी सलाखों में हैं’। जसे उत्तेजक नार लगाती रलवे ट्रैक पर बैठ गयी। आर.पी.एफ. निरीक्षक विनय महाराज, जी.आर.पी. प्रभारी कुंदन कुमार सिंह, जीआरपी निरीक्षक बदर आलम, बीडीओ सुरन्द्र कुमार, थानेदार वीरन्द्र कुमार सिंह चौहान के काफी प्रयास के बाद भी जाम को हटाने में सफलता नहीं मिली।ड्ढr ड्ढr बिग्रेड की प्रदेश महासचिव ने बताया कि उपयोग की तमाम वस्तुओं के मूल्यों में बेतहाशा वृद्धि ने पूर बिहार को आंदोलित कर दिया है। महंगाई को मुद्दा बना ब्रिगेड ने बिहार में जोरदार आंदोलन की शुरुआत कर दीहै। इसके साथ ही शिव सेना प्रमुख बाल ठाकर और मनसे अध्यक्ष राज ठाकर को देशद्रोही बताते हुए उन पर देशद्रोह का मुकदमा चलाने की मांग को भी आंदोलन का मुख्य आधार बताया। चक्का जाम में फंसे परीक्षार्थियों ने ब्रिगेड के सदस्यों से ट्रेन आगे जाने देने की मिन्नत की परंतु इनका इरादा अटल था। इस पर परीक्षार्थियों ने ब्रिगेड के खिलाफ नारबाजी भी की।ड्ढr ड्ढr बाद में पुलिस पदाधिकारियों, परीक्षार्थियों एवं आरपीएफ द्वारा बनाये गये बल मित्रों के प्रयास से चक्का जाम समाप्त कराया गया। तब तक अप एवं डाउन लाईन की सभी ट्रेनें यत्र तत्र रूकी रही। पुष्पा पांडेय के अनुसार आंदोलन की पूर्ण सफलता से महिलायें काफी उत्साहित हैं और 26 अप्रैल को राज्य कार्यकारिणी की बैठक में अगली रणनीति की घोषणा की जायेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: महिला ब्रिगेड ने रल चक्का जाम किया