अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डॉलर मजबूत होने से कचचच्चा तेल 115 डॉलर पर

डॉलर के मजबूत होने और निवेशकों के शेयर बाजारों की ओर रुख करने से अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेलशुक्रवार को115 डॉलर प्रति बैरल के आस पास टिका रहा, हालांकि इसकी आपूर्ति बाधित होने की आशंका अभी बनी हुई है। अमेरिका में कच्चा तेल 115.05 डॉलर प्रति बैरल बोला गया। वीरवार के बाद से कच्चे तेल में 2.24 डॉलर प्रति बैरल की गिरावट आ चुकी है। लंदन ब्रेंट भी 1.17 डॉलर प्रति बैरल से गिरकर 113.17 डॉलर प्रति बैरल रह गया। डॉलर के मजबूत होने से कच्चा तेल मंगलवार की रिकार्ड कीमत 110 डॉलर प्रति बैरल से चार प्रतिशत नीचे उतर चुका है। बाजार में जापान के येन के मुकाबले डॉलर दो माह के उच्चतम स्तर पर है। यूरो क्षेत्र की दो बड़ी अर्थव्यवस्थाओं जर्मनी और फ्रांस में विकास दर धीमी पड़ने की खबरों के बाद यूरो कमजोर हुआ है। टोक्यो में अस्तमैक्स कंपनी लिमिटेड के कोष प्रबंधक तेत्सू एमोरी का कहना है कि यूरोपीय संघ में विकास दर धीमी पड़ने के खतरे से डॉलर के मुकाबले यूरो कमजोर हुआ है। डॉलर के मुकाबले अन्य मुद्राओं के कमजोर पड़ने से निवेशकों ने अन्य कमोडिटीज की ओर रुख करना शुरू कर दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: डॉलर मजबूत होने से कचचच्चा तेल 115 डॉलर पर