DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजस्थान कचचो रोकचचना बेंगलुरु के लिए होगा बड़ा चैलेंज

लगातार दो जीतों से सफलता के घोड़े पर सवार टीम राजस्थान को अपने मैदान में रोकना टीम बेंगलुरु के लिए एक बड़ा चैलेंज होगा। दोनों टीमों के बीच शनिवार को मुकाबला होने जा रहा है। 20-20 में किसी टीम को कभी कमजोर नहीं कहा जा सकता। राजस्थान को आईपीएल 20-20 क्रिकेट टूर्नामेंट में सबसे कमजोर टीम माना जा रहा था। लेकिन उसी टीम ने अपने प्रदर्शन में लगातार सुधार करते हुए विश्लेषकों को गलत साबित कर दिया है। टीम राजस्थान ने अपना पहला मैच टीम दिल्ली से नौ विकेट से हारा था। उस मैच में राजस्थान की टीम सिर्फ 12रन बना सकी थी। लेकिन इसके बाद राजस्थान ने टीम पंजाब को छह विकेट से शिकस्त दी और फिर गुरुवार रात को रोमांचक मुकाबले में टीम हैदराबाद को एक गेंद शेष रहते तीन विकेट से हरा दिया। टीम राजस्थान के कप्तान शेन वार्न अपने व्यक्ितगत प्रदर्शन से टीम को प्रेरणादाई नेतृत्व दे रहे हैं। वार्न ने हैदराबाद के खिलाफ आखिरी ओवर में एंड्रयू सायमंडस की गेंदों पर एक चौका और दो छक्के उड़ाकर अपनी टीम को जिस अंदाज में जीत दिलाई उससे रायल्स का हौसला बुलंद हो गया होगा। दूसरी तरफ राहुल द्रविड़ के नेतृत्व वाली टीम बेंगलुरु की टीम कोलकाता से टूर्नामेंट के उद्घाटन मैच में 140 रन के भारी अंतर से शिकस्त खा गई थी। लेकिन इसके बाद संभलते हुए उसने अपने अगले मैच में टीम मुंबई को दो गेंद शेष रहते पांच विकेट से हरा दिया था। टीम बेंगलुरु के पास हालांकि द्रविड़ के अलावा जॉक कैलिस, मॉर्क बॉउचर, शिवनारायण चन्द्रपाल और नैथन एस्टल जैसे जोरदार खिलाड़ी है लेकिन उसकी बल्लेबाजी में वह ताकत नहीं दिखाई दे रही है जो एक टीम को चैम्पियन बनाती है। हालांकि पाकिस्तान के धुरंधर मध्य क्रम के बल्लेबाज मिस्बाह उल हक के आने से उसकी बल्लेबाजी को जरूर गहराई मिलेगी। मिस्बाह ने बांग्लादेश के खिलाफ 20-20 अंतरराष्ट्रीय मैच में मात्र 53 गेंदों में तीन चौके और पांच छक्के उड़ाते हुए नॉटआउट 87 रन ठोके थे। राजस्थान की बल्लेबाजी में भी दक्षिण अप्रीका के कप्तान ग्रीम स्मिथ के आने से मजबूती आई है। स्मिथ ने आईपीएल में गुरुवार को अपना पहला मैच खेला और हैदराबाद के खिलाफ इस मैच में धुआंधार 71 रन बना डाले। लेकिन बेंगलुरु को सबसे ज्यादा सतर्क टीम राजस्थान के ऑलराउंडर यूसुफ पठान से रहना होगा जिन्होंने हैदराबाद के खिलाफ एक ओवर में दो विकेट लेने के अलावा मात्र 28 गेदों में चार चौकों और छह छक्कों की मदद से ताबड़तोड़ 61 रन बनाए। उन्होंने टूर्नामेंट का सबसे तेज अर्धशतक बनाया और -मैन ऑफ द मैच-बने।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजस्थान कचचो रोकचचना बेंगलुरु के लिए होगा चैलेंज