class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विस समितियों की पुनर्गठन प्रक्रिया शुरू

विधानसभा की विभिन्न समितियों के पुनर्गठन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। अभी काम कर रहीं समितियों का कार्यकाल 30 अप्रैल तक ही है। इससे पहले समितियों का पुनर्गठन कर लिया जाना है। मंत्रिमंडल विस्तार में पांच समितियों के अध्यक्ष मंत्री बन गए हैं और इनके कारण ये समितियां अध्यक्ष विहीन हो गई हैं। लिहाजा इनका पुनर्गठन तत्काल किया जाना जरूरी हो गया है।ड्ढr ड्ढr सरकारी लोक उपक्रमों संबंधी समिति के अध्यक्ष भोला प्रसाद सिंह, निवेदन समिति के अध्यक्ष श्रीभगवान सिंह कुशवाहा, आवास समिति के अध्यक्ष हरि प्रसाद साह, जिला परिषद एवं पंचायत समिति के अध्यक्ष राम नारायण मंडल और गैर सरकारी विधेयक एवं संकल्प सह पर्यावरण संरक्षण एवं प्रदूषण नियंत्रण समिति के अध्यक्ष शाहिद अली खां मंत्री हो गए हैं। इनमें तीन जद यू के और दो भाजपा के हैं। विधानसभा की कुल 1समितियों का पुनर्गठन किया जाना है। अभी जो समितियां काम कर रही हैं उनमें सात के अध्यक्ष विपक्षी दलों के सदस्य हैं।ड्ढr ड्ढr इनमें चार समितियों में राजद के और एक-एक समिति में कांग्रेस, लोजपा और और निर्दलीय सदस्य अध्यक्ष पद पर हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार विधान सभा के अध्यक्ष ही इन समितियों के पुनर्गठन के लिए अधिकृत हैं। वैसे माना जा रहा है कि इनके पुनर्गठन के लिए विधानसभाध्यक्ष विभिन्न दलों के विधायक दलों के नेताओं से भी विचार-विमर्श कर सकते हैं। मंत्रिमंडल विस्तार के बाद समितियों के पुनर्गठन को लेकर लोगों की उत्सुकता बढ़ गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विस समितियों की पुनर्गठन प्रक्रिया शुरू