अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एचइसी में नहीं रुक रही चोरी

एचइसी के प्लांटों में चोरी की घटना के बाद कई मामलों की विजलेंस विभाग द्वारा जांच की गयी। सीवीओ ने कार्रवाई करने की सिफारिश भी की, लेकिन एचइसी के अधिकारियों पर कोई कार्रवाई नहीं की गयी। सीवीओ की सिफारिश पर कार्रवाई नहीं होने के कारण ही यहां चोरी की घटना बढ़ने की बात कही जा रही है। पिछले वर्ष विजलेंस के पास मामले आये थे। इनमें 0 छोटे एवं सात बड़े मामले थे। रंग ला रहा दिल्ली दौरा पे रिवीजन एवं अन्य मांगों को लेकर एचइसी के श्रमिक नेताओं का दिल्ली दौरा रंग लाने लगा है। खासकर पे रिवीजन के प्रस्ताव को मंजूरी दिलाने में नेताओं का दबाव काम आया है। भारी उद्योग मंत्रालय का कहना था कि ऐसा प्रावधान है कि बीमार कंपनी यदि लगातार तीन वर्ष मुनाफा कमाती है, तभी वहां पे रिवीजन लागू किया जायेगा। एचइसी ने दो बार मुनाफा कमाया है। यही बात सेवानिवृत्ति की उम्र सीमा 60 वर्ष करने में भी लागू होती है। इस पर श्रमिक नेताओं ने बीआरपीएसइ की सिफारिश की जानकारी देते हुए दस्तावेज प्रस्तुत किया। इसमें कहा गया है कि यदि एचइसी 300 करोड़ का उत्पादन लक्ष्य हासिल कर लेता है, तो यहां पे रिवीजन लागू किया जाना चाहिए। शिष्टमंडल मिला गिल्ड ऑफ एचइसी आफिसर्स एसोसिएशन का शिष्टमंडल शुक्रवार को सांसद वासुदेव आचार्य से मिला। शिष्टमंडल ने सांसद से पे-रिवीजन तथा एचइसी की अन्य समस्याओं के जल्द समाधान का आग्रह किया। सांसद आचार्य ने शिष्टमंडल को भरोसा दिलाया कि वह पे-रिवीजन तथा अन्य मुद्दों के समाधान के लिए पहल करंगे। पे-रिवीजन तथा अन्य समस्याओं पर शिष्टमंडल इस्पात मंत्री रामविलास पासवान तथा ऑष्कर फर्नाडीा से भी मुलाकात करगा। ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एचइसी में नहीं रुक रही चोरी