DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोनाजिर की डगर चले अजित कुमार

मंत्री पद गंवाने के बाद अजीत कुमार भी मोनाजिर हसन की राह चल पड़े हैं। शुक्रवार को उन्होंने जदयू के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। पार्टी नेतृत्व को त्यागपत्र सौंपकर श्री कुमार ने कहा कि जनसेवा के लिए किसी ओहदे की जरूरत नहीं है। उपाध्यक्ष तो भारी जिम्मेदारी वाला पद था।ड्ढr ड्ढr अगर जनसेवा में विधायिकी भी आड़े आयी तो वह भी छोड़ देंगे। खुद को जदयू का सच्चा सिपाही बताते हुए वे मंत्री बनाने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का बार-बार आभार प्रकट करते हैं लेकिन प्रदेश अध्यक्ष के प्रति उनके तेवर ‘कुछ अलग’ कहानी कह रहे हैं। श्री कुमार जोर देकर कहते हैं कि प्रदेश अध्यक्ष ने नहीं, मुख्यमंत्री ने मुझे मंत्री का सम्मान दिया और उपाध्यक्ष भी बनाया। किसी से कोई नाराजगी नहीं है। अपने क्षेत्र और समाज को आगे बढ़ाने के लिए इस्तीफा दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मोनाजिर की डगर चले अजित कुमार