DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेलबर्न सीरीज : स्मिथ के शतक से ऑस्ट्रेलिया का पलड़ा भारी

मेलबर्न सीरीज : स्मिथ के शतक से ऑस्ट्रेलिया का पलड़ा भारी

कप्तान स्टीवन स्मिथ ने लगातार तीसरा शतक जमाकर भारतीय गेंदबाजों को उनके लचर प्रदर्शन की कड़ी सजा दी जिससे ऑस्ट्रेलिया ने आज अपनी पहली पारी में 530 रन बनाकर तीसरे टेस्ट क्रिकेट मैच में अपना पलड़ा भारी कर दिया।

भारतीय बल्लेबाजों ने भी अच्छा खेल दिखाया और दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक मुरली विजय के नाबाद अर्धशतक की बदौलत एक विकेट पर 108 रन बनाये। भारत अब भी ऑस्ट्रेलिया से 422 रन पीछे है। स्टंप उखड़ने के समय विजय 55 और चेतेश्वर पुजारा 25 रन पर खेल रहे थे। शिखर धवन 28 रन बना कर आउट हुए।

ऑस्ट्रेलिया ने सुबह पांच विकेट पर 259 रन से आगे खेलना शुरू किया। स्मिथ ने 192 रन की बड़ी शतकीय पारी खेली जो उनका सातवां टेस्ट सैकड़ा है। उन्होंने इस बीच ब्रैड हैडिन (55) के साथ छठे विकेट के लिये 110 और रेयान हैरिस (74) के साथ आठवें विकेट के लिये 106 रन की साझेदारियां की। पिछले मैचों की तरह इस मैच में भी ऑस्ट्रेलियाई पुछल्ले बल्लेबाजों ने उपयोगी योगदान दिया।

स्मिथ ने लगभग सात घंटे क्रीज पर बिताये और इस दौरान सतर्कता और आक्रामण की अच्छी मिसाल पेश की। उन्होंने 305 गेंदें खेली तथा 15 चौके और दो छक्के लगाये। यह उनके करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी है। हैडिन ने भी तेजी से रन बनाये और अपनी पारी में सात चौके और एक छक्का लगाया।

नई गेंद संभालने वाले इशांत शर्मा (104 रन देकर कोई विकेट नहीं) और उमेश यादव (130 रन देकर तीन विकेट) पहले घंटे में कुछ प्रभाव नहीं छोड़ पाये और ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों ने घरेलू दर्शकों को खुश करने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

मोहम्मद शमी (138 रन देकर चार) ने काफी रन लुटाये। उन्होंने आखिर में हैडिन को विकेट के पीछे कैच कराया लेकिन इसके बाद मिशेल जॉनसन (28) और फिर हैरिस ने स्मिथ का अच्छा साथ देकर भारतीयों को राहत नहीं लेने दी।

ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (134 रन देकर तीन विकेट) के आने से भारत को कुछ राहत मिली। उन्होंने रन प्रवाह पर अंकुश लगाया और जॉनसन को महेंद्र सिंह धौनी के हाथों स्टंप आउट भी कराया। दूसरे सत्र में स्मिथ ने तेजी दिखायी और उन्हें हैरिस के रूप में अच्छा जोड़ीदार भी मिला। हैरिस ने अपना तीसरा अर्धशतक पूरा किया। उन्हें आखिर में अश्विन ने पगबाधा आउट किया लेकिन स्मिथ गेंदबाजों पर मैदान के चारों तरफ शॉट जमाते रहे। हैरिस ने 88 गेंद खेली तथा आठ चौके और एक छक्का लगाया।

हैरिस ने बाद में धवन को आउट करके भारत को झटका भी दिया। रन बनाने के लिये जूझ रहे बायें हाथ के इस सलामी बल्लेबाज ने स्लिप में स्मिथ को कैच थमाया। मुरली और पुजारा ने इसके बाद टीम को कोई झटका नहीं लगने दिया। भारत अभी सीरीज में 0-2 से पीछे चल रहा है और सीरीज में बने रहने के लिये उसे यह मैच हर हाल में जीतना होगा। ऐसे में मुरली और पुजारा की साझेदारी काफी महत्वपूर्ण होगी जो अभी तक दूसरे विकेट के लिये 53 रन जोड़ चुके हैं।

चाय के विश्राम जल्दी लिये जाने के बाद विजय और धवन ने पारी की शुरुआत की। रन बनाना आसान नहीं था हालांकि विजय ने शुरू में जॉनसन पर दो चौके जमाये। धवन ने भी कुछ इंतजार करने के बाद 14वें ओवर में शेन वॉटसन पर दो चौके लगाये। जब इन दोनों ने पहले विकेट के लिये 55 रन जोड़े तब अगले ओवर में धवन पवेलियन लौट गये।

पुजारा दिन के आखिरी क्षणों में भाग्यशाली रहे क्योंकि हैडिन ने 27वें ओवर में हेज़लवुड की गेंद पर उनका कैच छोड़ा। पुजारा तब 12 रन पर खेल रहे थे। दिन का खेल समाप्त होने से पहले विजय ने अपना नौवां टेस्ट शतक पूरा किया। इसके लिये उन्होंने 93 गेंद खेली।

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने सुबह पांच विकेट पर 259 रन से आगे खेलना शुरू किया। उसकी पारी स्मिथ के इर्द गिर्द घूमती रही। ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने अपनी शानदार फॉर्म जारी रखी और इस सीरीज में दूसरी बार 150 रन के पार पहुंचे। उन्होंने इसके बाद तेजी दिखायी और अपने अगले 42 रन केवल 32 गेंदों पर बनाये।

स्मिथ ने नेथन लायन (11) के साथ नौवें विकेट के लिये 48 रन की तेजतर्रार साझेदारी की। शमी ने लायन को बोल्ड करके यह साझेदारी तोड़ी जबकि यादव ने अगले ओवर में स्मिथ की गिल्लियां बिखेरकर उनकी मैराथन पारी का अंत किया। स्मिथ आउट होने वाले आखिरी बल्लेबाज थे।

भारतीय गेंदबाजों की आज लाइन एवं लेंथ अच्छी नहीं थी। स्मिथ और हैडिन सुबह गेंदबाजों पर हावी होकर खेले। भारत ने पहले नौ ओवरों में 52 रन लुटाये। हैडिन ने जल्द ही अपना 18वां टेस्ट अर्धशतक पूरा किया।

दूसरी तरफ स्मिथ ने अपने 25वें टेस्ट मैच में 2000 रन पूरे किये। इसके कुछ देर बाद 97वें ओवर में ऑस्ट्रेलिया 300 रन तक पहुंचने में सफल रहा। एडिलेड में नाबाद 162 और ब्रिस्बेन में 133 रन बनाने वाले स्मिथ ने पारी के 101वें ओवर में अपना सातवां टेस्ट शतक पूरा किया।

स्मिथ कप्तान के रूप में अपने पहले दो टेस्ट मैचों में शतक जड़ने के मामले में विजय हजारे, जैकी मैकग्ल्यू, सुनील गावस्कर और एलिस्टेयर कुक जैसे खिलाड़ियों की जमात में शामिल हो गये हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मेलबर्न :स्मिथ के शतक से ऑस्ट्रेलिया का पलड़ा भारी