DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आरएलसी आरएलसी से वार्ता नहीं 28 को हड़तालसंवाददाता रांची?3द्वद्यज्ठ्ठड्डद्वद्गह्यश्चड्डष्द्ग श्चrद्गथ्न्3 = o ठ्ठह्य = ह्वrठ्ठज्ह्यष्द्धद्गद्वड्डह्य-द्वन्ष्roह्यoथ्ह्ल-ष्oद्वज्oथ्थ्न्ष्द्गज्oथ्थ्न्ष्द्ग आरएलसी से वार्ता नहीं 28 को हड़ताल

आरएलसी रांची और नागपुर से द झारखंड कोलियरी मजदूर यूनियन के प्रतिनिधि ने कोई वार्ता नहीं की। ऐसी स्थिति में कोल इंडिया में 28 अप्रैल को हड़ताल होगी। हड़ताल का नोटिस दिये जाने के बाद आरएलसी ने इस मुद्दे पर यूनियन प्रतिनिधि को वार्ता के लिए बुलाया था। महासचिव सनत मुखर्जी को नोटिस भेजा था। यूनियन कामगारों को 15 फीसदी अंतरिम राहत देने का विरोध कर रहा है। उसने 40 फीसदी की मांग की है। इसकी जगह 40 से 80 हाार रुपये एडहॉक देने का प्रस्ताव रखा है। मांगों में दस साल के लिए वेतन समझौता करना, कैटेगरी वन का न्यूनतम वेतन 27000, अधिकारियों की तरह अन्य सुविधाएं, रिटायरमेंट उम्र बढ़ाकर 62 वर्ष करना और बाहरी लोगों को वेतन समझौता से अलग रखना भी शामिल है। हाारों कामगार इसके समर्थन में कोल इंडिया अध्यक्ष को हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन भी सौंप चुके हैं। सीसीएल गेट पर सभा की द जेसीएमयू ने शनिवार को सीसीएल गेट के समक्ष आम सभा की। नेताओं ने कामगार हित में सीटू से हड़ताल का समर्थन करने को कहा। उन्होंने कहा कि करीब 60 फीसदी कामगारों के लिए यह अंतिम वेतन समझौता है। सभी यह बात समझें। श्रमिक नेता अपने स्वार्थ के लिए कामगारों के हित का सौदा करते हैं। अंतरिम राहत के भुगतान में यह स्पष्ट हो चुका है। प्रावधान की जानकारी होने पर भी उन्होंने मात्र बेसिक पर ही समझौता किया। कामगारों के अभी एकाुट नहीं होने से देर हो जायेगी। सातवां वेतन समझौते की तरह ही वे धोखा खायेंगे। मौके पर काफी संख्या में कामगार मौजूद थे। 28 की हड़ताल का समर्थन झारखंड कोलियरी मजदूर यूनियन ने 28 अप्रैल की देशव्यापी हड़ताल का समर्थन किया है। विभिन्न श्रमिक संगठनों ने कोयला कामगारों की मांगों को लेकर 28 अप्रैल को देशव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है। यूनियन के अध्यक्ष दुर्गा सोरन ने यह जानकारी दी। यूनियन की बैठक छह को झारखंड कोलियरी मजदूर यूनियन की केंद्रीय कार्यकारिणी की बैठक छह मई को धनबाद में होगी। यूनियन के अध्यक्ष दुर्गा सोरन ने यह जानकारी दी। बैठक में कोयला कामगारों और विस्थापितों के हित में आंदोलनात्मक कार्यक्रम तयकिये जायेंगे। आंदोलन करगी झारखंड कोलियरी मजदूर यूनियन झारखंड कोलियरी मजदूर यूनियन ने कोयला कामगारों के वेतन पुनरीक्षण के नाम पर तीन बार बैठक बुलाने का विरोध किया है। यूनियन के अध्यक्ष दुर्गा सोरन और महासचिव दिलीप चटर्ाी ने कहा है कि बैठक के नाम पर लाखों रुपये खर्च हो रहे हैं, लेकिन कामगारों को कोई लाभ नहीं मिल रहा। अंतरिम राहत देने के नाम पर उन्हें ठगा जा रहा है। यूनियन इसके खिलाफ व्यापक स्तर पर आंदोलन छेड़ेगी। जरूरत पड़ने पर कोयले की ढुलाई भी रोकी जायेगी। सोरन 26 अप्रैल को संवाददाताओं से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोल इंडिया में अधिकारियों का बोलबाला है। बिना हंगामा किये अधिकारियों का वेतन 100 प्रतिशत बढ़ा दिया जाता है, वहीं दूसरी ओर कामगारों को वेतन बढ़ाने के लिए वर्षो आंदोलन करना पड़ता है। यूनियन कोयला कामगारों को उनके अधिकार दिलायेगी। इसके अलावा विस्थापितों के हक की लड़ाई लड़ी जायेगी। एनडीए सरकार छह साल में और यूपीए सरकार डेढ़ साल में विस्थापन नीति बनाने में फेल रही है। ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आरएलसी से वार्ता नहीं 28 को हड़तालसंवाददाता रांची?3द्वद्यज्ठ्ठड्डद्वद्गह्यश्चड्डष्द्ग श्चrद्गथ्न्3 = o ठ्ठह्य = ह्वrठ्ठज्ह्यष्द्धद्गद्वड्डह्य-द्वन्ष्roह्यoथ्ह्ल-ष्oद्वज्oथ्थ्न्ष्द्गज्oथ्थ्न्ष्द्ग आरएलसी से वार्ता नहीं 28 को हड़तालसंवाददाता रांची आरएलसी से वार्ता नहीं 28 को हड़ताल