फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़बच्चों में चाहिए शास्त्रीय संगीत सीखने की भूख : तनुश्री

बच्चों में चाहिए शास्त्रीय संगीत सीखने की भूख : तनुश्री

विख्यात नृत्यांगना तनुश्री सरकार ने कहा कि आज की युवा पीढ़ी रिजल्ट ऑरियेंटेड क्रैश कोर्स करना चाहती है, जोकि छह सप्ताह सीखे और मंच पर पहुंच जाए। लेकिन, शास्त्रीय संगीत सीखने में दस से बारह वर्ष का...

बच्चों में चाहिए शास्त्रीय संगीत सीखने की भूख : तनुश्री
लाइव हिन्दुस्तान टीमFri, 19 Dec 2014 08:04 PM
ऐप पर पढ़ें

विख्यात नृत्यांगना तनुश्री सरकार ने कहा कि आज की युवा पीढ़ी रिजल्ट ऑरियेंटेड क्रैश कोर्स करना चाहती है, जोकि छह सप्ताह सीखे और मंच पर पहुंच जाए। लेकिन, शास्त्रीय संगीत सीखने में दस से बारह वर्ष का समय देना होगा।

तनुश्री सरकार शुक्रवार को चमरिया गेस्ट हाउस में संवाददाताओं को संबोधित कर रही थीं। वे जमशेदपुर कार्निवाल में शास्त्रीय नृत्य प्रस्तुत करने लौहनगरी पहुंची हैं। उन्होंने आगे कहा कि शास्त्रीय संगीत के प्रति बच्चों में सीखने की भूख और जज्बा होना चाहिए तभी आनंद आएगा।

तनुश्री सरकार ने नृत्य सीखने वाले बच्चों से अपील की कि वे परिवार के दबाव में नृत्य न सीखें क्योंकि इसे सीखने के लिए धैर्य चाहिए। तनुश्री सरकार 1976 में बांग्ला फिल्म हेमंतोरपाखी और मीरा नायक के साथ काम कर चुकी हैं। वे इससे पहले भी लौहनगरी में अपनी प्रस्तुति दे चुकी हैं।

 
अपनी कला के प्रति गर्व करें बच्चे
तनुश्री सरकार के अनुसार भाषा को सुनकर बोलना और सीखकर बोलने में बहुत अंतर होता है। उन्होंने कहा कि नृत्य सीखने वाले बच्चे सबसे पहले अपनी कला के प्रति गर्व करें। हमेशा नया सीखने के लिए तैयार रहें तभी मंच पर बेहतर प्रस्तुति दे पाएंगे। उन्होंने बताया कि उनके ससुर उदय शंकर शास्त्रीय नृत्य में कई बदलाव लाए। हालांकि, तनुश्री अपने नृत्य में शास्त्रीय और मॉडर्न डांस दोनों के समावेश को आगे बढ़ा रही हैं। 
 
मिसगाइड हैं बच्चे

शास्त्रीय नृत्यांगना तनुश्री सरकार ने कहा कि टीवी पर जो बच्चे डांस दिखाते हैं, उनमें बहुत प्रतिभा होती है, लेकिन वे मिसगाइड हैं। उन्होंने कहा कि एरोबिक, मॉडर्न तकनीक का डांस में बहुत अच्छा इस्तेमाल है, लेकिन शास्त्रीय संगीत की अपनी अदाएं होती हैं और इसे सीखने के लिए वक्त देना चाहिए।
epaper