अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में एफडीआई की सीमा बढ़ी

अब भारतीय टेलीविजन और रडियो में विदेशी पैसा चढ़ कर बोलेगा। केबल टीवी, एफएम रडियो ,डीटीेएच, मोबाइल टीवी समेत पूर प्रसारण क्षेत्र में एफडीआई (प्रत्यक्ष विदेशी निवेश) और एफएफआई (विदेशी संस्थागत निवेश) के दायर को और बढ़ाने की सिफारिश की गई है। एक महत्वपूर्ण सिफारिश में ट्राई (टेलीकॉम रगुलेटरी ऑथॉरिटी ऑफ इंडिया) ने न केवल टेलीविजन बल्कि रडियो क्षेत्र की कई पुरानी मांगों को सही ठहराते हुए इन्हें अधिक विदेशी निवेश के लिए और खोलने की वकालत की है। सूचना व प्रसारण मंत्रालय ने ट्राई से अनुरोध किया था कि वह प्रसारण क्षेत्र में विदेशी निवेश पर अपनी सलाह दे। इसके बाद ट्राई ने इस क्षेत्र की कंपनियों और स्टेक होल्डरों से बात की। शनिवार को जारी ट्राई की सिफारिश के हिसाब से डीटीएच में मौजूदा 4प्रतिशत प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की बजाय 74 प्रतिशत विदेशी निवेश की अनुमति मिल जाएगी। एफएम रडियो के मौजूदा 20 प्रतिशत की सीमा को बढ़ाकर 4प्रतिशत एफडीआई और एफएफआई की अनुमति देने की सिफारिश की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में एफडीआई की सीमा बढ़ी