DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बांग्ला सांस्कृतिक मेला

राज्यपाल करंगे उद्घाटन, ममता शंकर होंगी मुख्य आकर्षण, जिला स्कूल सज-धज कर तैयारसंवाददाता रांची दसवां बांग्ला सांस्कृतिक मेला दस अप्रैल से शुरू हो रहा है। आयोजन स्थल जिला स्कूल संस्कृतिप्रेमियों के स्वागत के लिए पूरी तरह तैयार है। गुरुवार को मेला प्रांगण में संयोजक सुप्रियो भट्टाचार्या ने संवाददाताओं को यह जानकारी दी। तीन दिनी मेले का उद्घाटन राज्यपाल सैयद सिब्ते राी करंगे। इसके पहले दिन के साढ़े सात बजे वर्धमान कंपाउंड के हरिमति मंदिर से प्रभातफेरी निकलेगी। इसमें राजधानी के बच्चे, महिला और पुरुष भाग लेंगे। नौ बजे कार्यकारी अध्यक्ष बीएन राय झंडोत्तोलन करंगे। मेला प्रांगण में शांति का प्रतीक कबूतर उड़ाया जायेगा। साथ में कोलकाता के क्लब बैंड का धुन बजेगा। सुबह साढ़े नौ बजे शंख ध्वनि प्रतियोगिता, दस बजे उलुध्वनि प्रतियोगिता, 10.15 बजे फैंसी ड्रेस और ग्यारह बजे रवींद्र संगीत प्रतियोगिता होगी। शाम छह बजे साहित्य सभा की व्यक्ता होंगी संगीता बनर्जी। कॉसमॉस क्लब और बंगीय सांस्कृतिक परिषद द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया जायेगा। रात आठ बजे विश्वभारती विश्वविद्यालय के पूर्व विद्यार्थी सह केरला मूल के एम मुरली और मनीषा रवींद्र संगीत प्रस्तुत करंगे। नौ बजे प्रख्यात टीवी व नृत्य कलाकार ममता शंकर अपने ग्रुप के साथ बैले प्रस्तुत करंगी। मेले में 70 स्टॉल लगेंगे, जिनमें देवघर, मुजफ्फरपुर, शांतिनिकेतन, कोलकाता और अन्य जगहों के एंटरप्रेन्योर अपने सामानों का प्रदर्शन और बिक्री करंगे। संवाददाता सम्मेलन में राखी राय, नंदिता सामंत, रत्ना भट्टाचार्या, भाश्वती मिश्रा, बीरंद्र नाथ राय, प्रदीप घोष दस्तिदार, असीम सरकार, रथीन चटर्ाी, आशीष राय, परितोष गुहा, नीलेश गुप्ता, रवींद्र नाथ सरकार, सिद्धार्थ ज्योति राय, जय सिंह, अफरो, विश्वजीत भट्टाचार्या आदि उपस्थित थे। बच्चों का बचपन छिन रहा है रियलिटी शो से : ममताशंकरकरबी रांची प्रख्यात नृत्यांगना ममताशंकर गुरुवार को रांची पहुंचीं। उन्होंने हिन्दुस्तान के साथ बातचीत में कहा कि रियलिटी शो से बच्चों का बचपन छीन रहा है। वे समय से पहले ही एडल्ट बन रहे हैं। इसके लिए अभिभावक ही जिम्मेदार हैं। वे पैसा के पीछे रैट रस लगा रहे हैं, लेकिन अपने बच्चों को सही शिक्षा नहीं दे रहे हैं। हर उम्र की ब्यूटी होती है, उसे वैसे ही निखारना चाहिए। ममताशंकर ने कहा कि नृत्य और अभिनय उनके लिए दो पुत्र के समान हैं। दोनों ही कला में कलाकार का आत्मा बसता है। ममताशंकर का मानना है कि वर्तमान में लोग स्वार्थी हो गये हैं। वे सिर्फ अपने बार में सोचते हैं। पैसा कमाने के लिए वे नीति और आदर्श को दरकिनार कर मोह के पीछे भागते जा रहे हैं। इसे ही लोग टीवी पर देखना चाहते हैं। सीरियल अखबार जसा है। लोग प्रतिदिन नये एपिसोड देखते हैं, लेकिन वह सीरियल खत्म हो जाने के बाद उसे भूल जाते हैं। वे कहती हैं कि वर्तमान में जो सीरियल प्रसारित हो रहे हैं, उनमें स्त्री चरित्र को खलनायक के रूप में दिखाया जा रहा है। इससे समाज में गलत संदेश जाता है। बांग्ला सांस्कृतिक मेला आज सेड्ढr राज्यपाल करंगे उद्घाटन, ममता शंकर होंगी मुख्य आकर्षण, जिला स्कूल सज-धज कर तैयारसंवाददाता रांची दसवां बांग्ला सांस्कृतिक मेला दस अप्रैल से शुरू हो रहा है। आयोजन स्थल जिला स्कूल संस्कृतिप्रेमियों के स्वागत के लिए पूरी तरह तैयार है। गुरुवार को मेला प्रांगण में संयोजक सुप्रियो भट्टाचार्या ने संवाददाताओं को यह जानकारी दी। तीन दिनी मेले का उद्घाटन राज्यपाल सैयद सिब्ते राी करंगे। इसके पहले दिन के साढ़े सात बजे वर्धमान कंपाउंड के हरिमति मंदिर से प्रभातफेरी निकलेगी। इसमें राजधानी के बच्चे, महिला और पुरुष भाग लेंगे। नौ बजे कार्यकारी अध्यक्ष बीएन राय झंडोत्तोलन करंगे। मेला प्रांगण में शांति का प्रतीक कबूतर उड़ाया जायेगा। साथ में कोलकाता के क्लब बैंड का धुन बजेगा। सुबह साढ़े नौ बजे शंख ध्वनि प्रतियोगिता, दस बजे उलुध्वनि प्रतियोगिता, 10.15 बजे फैंसी ड्रेस और ग्यारह बजे रवींद्र संगीत प्रतियोगिता होगी। शाम छह बजे साहित्य सभा की व्यक्ता होंगी संगीता बनर्जी। कॉसमॉस क्लब और बंगीय सांस्कृतिक परिषद द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया जायेगा। रात आठ बजे विश्वभारती विश्वविद्यालय के पूर्व विद्यार्थी सह केरला मूल के एम मुरली और मनीषा रवींद्र संगीत प्रस्तुत करंगे। नौ बजे प्रख्यात टीवी व नृत्य कलाकार ममता शंकर अपने ग्रुप के साथ बैले प्रस्तुत करंगी। मेले में 70 स्टॉल लगेंगे, जिनमें देवघर, मुजफ्फरपुर, शांतिनिकेतन, कोलकाता और अन्य जगहों के एंटरप्रेन्योर अपने सामानों का प्रदर्शन और बिक्री करंगे। संवाददाता सम्मेलन में राखी राय, नंदिता सामंत, रत्ना भट्टाचार्या, भाश्वती मिश्रा, बीरंद्र नाथ राय, प्रदीप घोष दस्तिदार, असीम सरकार, रथीन चटर्ाी, आशीष राय, परितोष गुहा, नीलेश गुप्ता, रवींद्र नाथ सरकार, सिद्धार्थ ज्योति राय, जय सिंह, अफरो, विश्वजीत भट्टाचार्या आदि उपस्थित थे। बच्चों का बचपन छिन रहा है रियलिटी शो से : ममताशंकरकरबी रांची प्रख्यात नृत्यांगना ममताशंकर गुरुवार को रांची पहुंचीं। उन्होंने हिन्दुस्तान के साथ बातचीत में कहा कि रियलिटी शो से बच्चों का बचपन छीन रहा है। वे समय से पहले ही एडल्ट बन रहे हैं। इसके लिए अभिभावक ही जिम्मेदार हैं। वे पैसा के पीछे रैट रस लगा रहे हैं, लेकिन अपने बच्चों को सही शिक्षा नहीं दे रहे हैं। हर उम्र की ब्यूटी होती है, उसे वैसे ही निखारना चाहिए। ममताशंकर ने कहा कि नृत्य और अभिनय उनके लिए दो पुत्र के समान हैं। दोनों ही कला में कलाकार का आत्मा बसता है। ममताशंकर का मानना है कि वर्तमान में लोग स्वार्थी हो गये हैं। वे सिर्फ अपने बार में सोचते हैं। पैसा कमाने के लिए वे नीति और आदर्श को दरकिनार कर मोह के पीछे भागते जा रहे हैं। इसे ही लोग टीवी पर देखना चाहते हैं। सीरियल अखबार जसा है। लोग प्रतिदिन नये एपिसोड देखते हैं, लेकिन वह सीरियल खत्म हो जाने के बाद उसे भूल जाते हैं। वे कहती हैं कि वर्तमान में जो सीरियल प्रसारित हो रहे हैं, उनमें स्त्री चरित्र को खलनायक के रूप में दिखाया जा रहा है। इससे समाज में गलत संदेश जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बांग्ला सांस्कृतिक मेला