DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुलियों को रलवे बोर्ड की नीति समझाई गई

चारबाग स्टेशन पर शनिवार को उत्तर रलवे के डीआरएम चाहते राम ने कुलियों के साथ बैठक कर उन्हें भर्ती नियमों की वास्तविकता समझाई। श्री राम ने 50 साल से अधिक उम्र के कुलियों के आश्रितों को गैंगमैन की नौकरी दे पाने में असमर्थता जताई। उधर पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ. अखिलेश दास ने रलमंत्री से मिलकर कुलियों की समस्याएँ दूर करने का भरोसा दिलाया।ड्ढr रल बजट में रलमंत्री लालू प्रसाद की कुलियों को गैंगमैन पद पर भर्ती करने की घोषणा का फायदा अधिकतम 30 फीसदी लोगों को ही मिल पा रहा है। रलवे बोर्ड के अफसरों की बनाई नीति में कुली उलझकर रह गए हैं। अफसरों ने 18 से 50 तक के साल के साक्षर कुलियों को छोड़कर अन्य सभी को नौकरी न देने के स्पष्ट आदेश जारी किए हैं। कुली संगठन को जब भर्ती की शर्तों का पता चला तो शुक्रवार को लखनऊ विकास मंच के संयोजक कैलाश पाण्डेय के नेतृत्व में कुलियों ने सिर पर कफन बाँधकर प्रदर्शन किया। साथ ही भर्ती प्रक्रिया का बहिष्कार करने की घोषणा कर दी। इसके बाद डीआरएम चाहते राम ने स्टेशन प्रबंधक कार्यालय में कुलियों को बुलाकर रलवे बोर्ड के नियमों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जो कुली बोर्ड के निर्देशों के मुताबिक स्क्रीनिंग व मेडिकल में पास हो जाएँगे उन्हें गैंगमैन बनाया जाएगा। श्री राम ने 50 साल से अधिक आयु के कुलियों को नौकरी देने के प्रस्ताव को खारिा कर दिया। इसके बाद कुली नेता यार मोहम्मद, फतेह मोहम्मद, छुनमुन हुसैन, मो. इदरीस, दानिश अली व नौशाद सहित कई लोगों ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ. अखिलेश दास से मिलकर बुजुर्ग कुलियों को न्याय दिलाने की माँग की। डा. दास ने रलमंत्री को फैक्स भेजकर 50 वर्ष से अधिक आयु के कुलियों के आश्रितों को नौकरी देने पर विचार करने को कहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कुलियों को रलवे बोर्ड की नीति समझाई गई