DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटना पश्चिम रहा घंटों अंधेर में

शहर का पश्चिमी इलाका शनिवार की रात घंटों अंधेर में डूबा रहा। बिजली गुल रहने से हाहाकार मच गया। लोगों को बिजली के साथ पानी के भी लाले पड़ गए। देर शाम खगौल-1 फीडर ब्रकडाउन करने से पश्चिमी भाग के तीनों फीडर ठप पड़ गए। नतीजतन पाटलिपुत्र, बोरिंग रोड,श्रीकृष्णापुरी, शिवपुरी, राजीवनगर व आसपास के तमाम इलाकों में देर रात तक अंधेरा छाया रहा। भीषण गर्मी में रात के वक्त लाइन गुल रहने से लोगों की बुरी गत बनी।ड्ढr ड्ढr पेसू के महाप्रबंधक राजनाथ सिंह ने बताया कि 17 नं. रलवे क्रासिंग के पास 33 केवीए का तार टूट जाने के बाद पाटलिपुत्र,एएन कालेज व एसकेपुरी फीडर बैठ गया। रलवे क्रासिंग के पास तार गिर जाने से उसे दुरुस्त करने में पेसूकर्मियों के पसीने छूट गए। जीएम के मुताबिक काफी एहतियात बरतनी पड़रही है। वैकल्पिक व्यवस्था कर एएन कालेज व पाटलिपुत्र फीडर से जुड़े मोहल्लों में बारी-बारी से बिजली दी जा रही है। इसके चलते पाटलिपुत्र, न्यू पाटलिपुत्र, बोरिंग रोड, बोरिंग कैनाल रोड, राजीवनगर, शिवपुरी, महेशनगर, इंद्रपुरी के हजारों बाशिंदों की फजीहत हो गयी।ड्ढr शनिवार की देर रात के बाद ही बिजली की आपूर्ति सामान्य होने की उम्मीद है। इधर एक्जीबिशन रोड, सब्जीबाग आदि में भी देर शाम के बाद घंटों बिजली गुल रही। उधर शुक्रवार की रात से शनिवार की सुबह तक पत्रकारनगर में तार टूटने से बिजली गुल रही जिससे मोहल्ले के बाशिंदों की हालत पतली रही। विद्युत बोर्ड के प्रवक्ता एसके घोष ने बताया कि सेंट्रल सेक्टर से शनिवार को 870 मेगावाट बिजली मिली। बरौनी से भी 50 मेगावाट आयी पर कांटी ठप रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पटना पश्चिम रहा घंटों अंधेर में