DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वार्नर के शतक के बाद भारत ने पहले टेस्ट में वापसी की

वार्नर के शतक के बाद भारत ने पहले टेस्ट में वापसी की

ऑस्ट्रेलिया के डेविड वार्नर ने 145 रन की पारी खेलकर अपने दिवंगत साथी फिलीप ह्यूज को श्रद्धांजलि दी लेकिन भारत ने बाद में जज्बाती माहौल के बीच शुरू हुए पहले क्रिकेट टेस्ट में तीन विकेट जल्दी लेकर वापसी की।
 
पहले बल्लेबाजी करते हुए वार्नर के दसवें टेस्ट शतक के दम पर ऑस्ट्रेलिया ने दबदबा बना लिया था लेकिन भारत ने आखिरी सत्र में तीन विकेट चटकाकर वापसी की। पहले दिन का खेल समाप्त होने तक ऑस्ट्रेलिया का स्कोर छह विकेट पर 354 रन था। एक समय पर ऑस्ट्रेलिया ने सिर्फ दो विकेट पर 258 रन बना लिए थे जब वार्नर टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने वाले स्पिनर कर्ण शर्मा की गेंद पर आउट हो गए। इसके बाद मिशेल मार्श (41), नाथन लियोन (3) और ब्राड हाडिन (0) भी टिक नहीं सके। पहले दिन का खेल समाप्त होने पर स्टीवन स्मिथ 72 रन पर खेल रहे थे।
 
इससे पहले मैच की शुरुआत काफी जज्बाती माहौल में हुई। ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने अपनी जर्सी पर ह्यूज का टेस्ट कैप नंबर 408 पहना हुआ था। मैच शुरू होने से पहले हयूज को श्रद्धांजलि दी गई। दोनों टीमें उसके टेस्ट कैप नंबर 408 के पीछे खड़ी हुई और दोनों टीमों के खिलाड़ियों ने काले आर्मबैंड पहने थे। स्टेडियम में भी लोगों ने 63 मिनट तक उसका अभिवादन किया। ह्यूज को ऑस्ट्रेलियाई टीम का 13वां सदस्य बनाया गया था।

वार्नर भी दो मौकों पर काफी भावुक हो गए। पहले 63 रन पूरे करने के बाद उन्होंने अपना बल्ला आसमान में लहराकर ह्यूज को श्रद्धांजलि दी। मैदान पर जमा दर्शकों ने खड़े होकर उनका अभिवादन किया। इसके बाद आरोन की गेंद पर रन लेकर 10वां टेस्ट शतक पूरा करने के बाद वह फिर भावुक हो गए। कप्तान क्लार्क ने उन्हें कसकर गले लगा लिया। उन्होंने शतक का जश्न नहीं मनाया बल्कि अपना हेलमेट उतारा, आंसू पोछे और बल्लेबाजी करते रहे।

वार्नर ने तीसरे विकेट के लिए कप्तान माइकल क्लार्क (60 रिटायर्ड हर्ट) के साथ 118 रन जोड़े। क्लार्क को कमर के दर्द के फिर उभरने के कारण मैदान छोड़ना पड़ा। ईशांत शर्मा की एक शार्ट गेंद खेलते समय उन्हें दर्द उठा जिससे मैच में आगे उनके खेलने पर संशय की स्थिति पैदा हो गई है। क्लार्क ने 84 गेंदों का सामना करके अपनी पारी में नौ चौके लगाए।

पहले दो सत्र का आकर्षण वार्नर की पारी रही जिन्होंने कुछ दर्शनीय स्ट्रोक्स लगाए। वार्नर आखिर में 163 गेंदों में 19 चौकों की मदद से 145 रन बनाकर आउट हुए। उन्होंने कर्ण की गेंद पर डीप मिडविकेट में शाट खेला जहां ईशांत शर्मा ने उनका कैच लपका। उन्होंने भारतीय तेज गेंदबाजों को खासी नसीहत दी। वरुण आरोन ने 95 रन दे डाले जबकि उन्हें दो ही विकेट मिले। शमी ने 83 रन दिए जबकि कर्ण शर्मा ने 23 ओवर में 89 रन देकर एक विकेट लिया।
 
ईशांत ने 20 ओवर में 56 रन देकर एक विकेट लिया। उन्होंने सलामी बल्लेबाज क्रिस रोजर्स (9) को
 
आउट किया जबकि आरोन ने शेन वाटसन (14) को पवेलियन भेजा। दोनों ने दूसरी स्लिप में शिखर धवन को कैच थमाए।

पहले सत्र में भारतीय गेंदबाजों का प्रदर्शन निराशाजनक रहा। वार्नर ने पहले तीन ओवर में छह चौके लगाए। ऑस्ट्रेलिया के 50 रन सिर्फ आठ ओवर में बन गए। ईशांत ने रोजर्स को आउट किया जबकि वाटसन का आते ही शार्ट गेंदों और बाउंसर्स के साथ स्वागत हुआ। आरोन और शमी ने उन्हें शुरुआत में परेशान किया। दूसरे छोर पर हालांकि वार्नर पर अंकुश नहीं लग रहा था जिन्होंने 45 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया।

वाटसन 19वें ओवर में आरोन की गेंद पर दूसरी स्लिप में धवन को कैच देकर पवेलियन लौटे। उनके आउट होने के बाद क्लार्क मैदान पर आए जिनका दर्शकों ने खड़े होकर अभिवादन किया।
 
इससे पहले क्लार्क को 38 के स्कोर पर जीवनदान मिला था जब आरोन ने 36वें ओवर में उनके विकेट के पीछे लपके जाने की जोरदार अपील की थी। अगले ओवर में वार्नर ने शतक पूरा किया जो 2014 में उनका पांचवां शतक है। उन्होंने इसके लिए 106 गेंदों का सामना किया और 14 चौके लगाए। दो ओवर बाद क्लार्क ने भी अर्धशतक पूरा किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वार्नर के शतक के बाद भारत की पहले टेस्ट में वापसी