आक्रामक गेंदबाजी करने से पीछे नहीं हटेंगे : जॉनसन - आक्रामक गेंदबाजी करने से पीछे नहीं हटेंगे : जॉनसन DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आक्रामक गेंदबाजी करने से पीछे नहीं हटेंगे : जॉनसन

आक्रामक गेंदबाजी करने से पीछे नहीं हटेंगे : जॉनसन

फिलीप ह्यूज़ की त्रासद मौत से गमगीन होने के बावजूद ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मिशेल जॉनसन ने आज कहा कि वह कल से भारत के खिलाफ शुरू हो रहे पहले टेस्ट में आक्रामकता नहीं छोड़ेंगे।
    
जॉनसन ने पहले टेस्ट से पूर्व कहा कि हम अपने तरीके से ही खेलेंगे और हम आक्रामक क्रिकेट खेलते हैं। मैं हमेशा से इसी तरह से खेलने में विश्वास करता आया हूं और बाकी खिलाड़ी भी ऐसे ही खेलेंगे। वे उसी तरह से शॉर्ट गेंद फेकेंगे जैसे कि फेंकते आये हैं।
    
उन्होंने कहा कि हम हालात की समीक्षा करेंगे लेकिन अपनी शैली में बदलाव नहीं करने जा रहे। पिछले 18 महीने में एक गेंदबाजी ईकाई के रूप में हमने काफी आक्रामक गेंदबाजी की और मैं इसमें कोई बदलाव नहीं करूंगा।
    
यह पूछने पर कि अगर किसी बल्लेबाज को उनका बाउंसर सिर में लगता है तो उनकी प्रतिक्रिया क्या होगी, जॉनसन ने कहा, पता नहीं। हो सकता है कि इस बार प्रतिक्रिया अलग हो। मैंने अभी तक किसी को चोट पहुंचाई है लिहाजा मुझे नहीं पता कि मुझे कैसा महसूस होगा।
   
पहले टेस्ट में ह्यूज़ को श्रद्धांजलि देने की योजनाओं के बारे में उन्होंने कहा कि यह वाकई खास है। उसका परिवार गौरवान्वित होगा। मैं उसका टेस्ट कैप नंबर पहनकर फख्र महसूस करूंगा। हमने उसे 13वां खिलाड़ी भी बनाया है जो खास है।

जॉनसन ने कहा कि यह काफी जज्बाती सुबह होगी और मेरे लिये पहला स्पैल फेंकना काफी कठिन होगा। हमने कुछ सत्र अभ्यास किया है और बेहतर महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हर कोई क्रिकेट खेलने को बेताब है। अब देखना है कि हमें कैसा महसूस होता है क्योंकि हम सभी अलग महसूस करेंगे। एक गेंदबाजी ईकाई के रूप में हम अच्छे प्रदर्शन को बेताब हैं।
    
हरफनमौला शेन वॉटसन ने कल कहा था कि जब इस हादसे के बाद उन्होंने नेट पर पहली बार बल्लेबाजी की तो उन्हें सामान्य होने में समय लगा। यह पूछने पर कि टास जीतने के बाद ऑस्ट्रेलिया के फैसले पर क्या इसका असर पड़ेगा, जॉनसन ने ना में जवाब दिया।
    
उन्होंने कहा कि यदि हम टॉस जीते तो बल्लेबाजी चुनेंगे। यह अच्छी विकेट है और मुझे नहीं लगता कि इसमें कोई बदलाव होगा। ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिये सबसे बड़ी राहत कप्तान माइकल क्लार्क का फिट होना रही है जो पिछले दो सप्ताह में देश भर में हीरो बनकर उभरे हैं।
    
जॉनसन ने कहा कि हमने पिछले दिनों काफी जज्बाती उतार चढ़ाव देखे और क्लार्क ने अदम्य साहस का परिचय दिया है। मैंने उसकी शख्सियत का एक दूसरा पहलू देखा। उसकी टीम में वापसी से मनोबल बढ़ा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आक्रामक गेंदबाजी करने से पीछे नहीं हटेंगे : जॉनसन