class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रोडवेज बसों का चक्का जाम आज

अप्रैल की रात से रोडवेज बसों का चक्का जाम के मुद्दे पर रविवार को कर्मचारी संगठन व निगम प्रशासन के बीच वार्ता फेल हो गई। इसी मुद्दे पर परिवहन मंत्री रामअचल राजभर भी उत्तर प्रदेश परिवहन निगम कर्मचारी-अधिकारी संयुक्त संघर्ष मोर्चा के पदाधिकारियों को मनाने में असफल रहे। निगम मोर्चा फिलहाल सोमवार की आधी रात से 24 घंटे के सांकेतिक चक्का जाम की घोषणा पर कायम है।ड्ढr रविवार को निगम सभागार में परिवहन विभाग के प्रमुख सचिव देश दीपक वर्मा ने मोर्चा के पदाधिकारियों को समझाने की कोशिश कि वित्त विभाग व सार्वजनिक उद्यम ब्यूरो निगम की माँगों से सहमत नहीं है। दोनों का कहना है कि इन माँगों पर निगम बोर्ड ने भले ही सकारात्मक रवैया दिखाया हो पर उनकी राय में निगम की वित्तीय स्थिति इतनी मजबूत नहीं है कि उस पर नए भार डाले जाएँ।ड्ढr यह सुनकर मोर्चा के संयोजक एमएल कुरील, सह संयोजक प्रीतम दास, गिरीश मिश्र, विनोद शर्मा, राकेश सिंह, आदि नाराज होकर बैठक से उठ गए। इसके बाद उन्होंने मृतक आश्रित को रोडवेज के 500 चालक व एक हाार परिचालकों के पदों को भरने की माँग की। इस माँग पर निगम प्रशासन ने असहमति जता दी। हालाँकि, निगम के एमडी किशन सिंह अटोरिया ने पदाधिकारियों से दस दिन के लिए चक्का जाम की घोषणा को स्थगित करने की अपील की। उन्होंने इस अवधि में निगम की मदों से कर्मचारियों की माँगों को पूरा करने का विश्वास दिलाया। इस अपील को पदाधिकारियों ने ठुकरा दिया। इसके बाद परिवहन मंत्री रामअचल राजभर ने अपने आवास पर पदाधिकारियों को घंटे भर मनाने की कोशिश की। यहाँ भी पदाधिकारियों ने परिवहन मंत्री से साफ कह दिया कि जब तक उनकी चार सूत्री माँगों को पूरा करने का ऐलान नहीं होगा वे पीछे नहीं हटेंगे।ड्ढr मोर्चा की तरफ से ऐलान किया गया है कि 24 घंटे के भीतर सरकार ने कोई घोषणा नहीं की तो 28 की रात 12 बजे से प्रदेश भर में बसों का चक्का जाम कर कर्मचारी एक दिन की सांकेतिक हड़ताल पर रहेंगे। मोर्चा के प्रवक्ता आर.पी.सिंह ने बताया कि चक्का जाम करने से पहले सभी पदाधिकारियों की दिन में एक बार फिर बैठक होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रोडवेज बसों का चक्का जाम आज