DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

24 घंटे में शहर की सड़कों से कब्जा हटाने का फरमान

शहर के प्रमुख मार्गों को अतिक्रमण से मुक्त कराने की कार्रवाई शुरू हो गई है। नगर निगम और शहरी पुलिस इस मामले में संयुक्त कार्रवाई कर रही है। इसके तहत शनिवार को निगम प्रशासन ने मुनादी करायी। रिक्शे पर माइक बांधकर प्रमुख मार्गों पर दुकानदारों को चेतावनी दी गई। जूरनछपरा, इमलीचट्टी, सदर अस्पताल रोड, स्टेशन रोड, सरैयागंज, कंपनीबाग और जवाहरलाल रोड में प्रशासन की ओर से मुनादी करायी गई।

इसमें दुकानदारों से कहा गया है कि जो लोग भी सड़क पर दुकान लगा रहे हैं, 24 घंटे के अंदर सड़क से पूर्णत: स्थायी रूप से हट जाएं। ऐसे दुकानदार जो दुकान से बाहर सड़क पर सामान निकालकर रख रहे हैं वह भी इस आदत से बाज आये। वरना प्रशासन दंडात्मक कार्रवाई करेगा और सामान जब्त कर लेगा। इस प्रशासनिक सख्ती से अतिक्रमणकारियों में हड़कंप है। नगर आयुक्त ने बताया कि शहर में जाम का सबसे बड़ा कारण अतिक्रमण है।

अब इसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। अभियान चलाकर सड़कों को कब्जे से मुक्त कराया जायेगा। सबसे पहले जूरनछपरा से कंपनीबाग होकर सदर अस्पताल रोड में अतिक्रमण हटवाया जायेगा। सामान जब्त करने के साथ कब्जा जमाए दुकानदारों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज करायी जायेगी। इसके बाद स्टेशन रोड, सरैयागंज, जवाहरलाल रोड समेत चरणबद्ध तरीके से पूरे शहर में सड़क से कब्जा हटवाया जाएगा। एफआईआर के बाद भी पुलिस शिथिल : तत्कालीन नगर आयुक्त सीता चौधरी ने सिकंदरपुर मोड़ से लेकर अखाड़ाघाट रोड में निर्माण सामग्री बेचने वाले आधा दर्जन दुकानदारों पर नगर थाने में सड़क पर कब्जा के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज करायी थी।

पांच माह से इस एफआईआर को नगर थाना की पुलिस दबाए बैठी है। सिकंदरपुर मोड़ पर इन दिनों अवैध कब्जा के कारण ही जाम लग रहा है। नगर थाना पुलिस की ओर से कार्रवाई नहीं होने के कारण कब्जा जमाए लोगों का मनोबल बढ़ा है। अब सिटी एसपी राजेंद्र कुमार भील व नगर आयुक्त हिमांशु शर्मा कब्जा के विरुद्ध अभियान चला रहे हैं। लोग पुराने मामलों में भी कार्रवाई की टकटकी लगाये हैं।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:24 घंटे में शहर की सड़कों से कब्जा हटाने का फरमान