DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुष्कर्म पीड़ित गर्भवती छात्रा ने स्कूल छोड़ा, दो पंच गिरफ्तार

घर में घुसकर 10वीं की छात्रा से दुष्कर्म के आरोपी के पक्ष में पंचायत करने वाले दो लोगों को पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया है जिनमें एक लतीफुर रहमान मुख्य आरोपी का पिता बताया जा रहा है। दूसरा गांव का ही आबिद हुसैन है जो भरी पंचायत में छात्रा को लांछित कर रहा था। इधर स्थिति यह कि पीड़ित छात्रा सात माह की गर्भवती है और उसका स्कूल और कोचिंग दोनों छूट चुका है। पांच दिन बाद भी सामूहिक दुष्कर्म के चारो आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर सकी है।

पैकटोला गांव की यह घटना चर्चा में आने के बाद अब पुलिस सक्रिय हुई है। महिला थानाध्यक्ष श्वेता गुप्ता और बहादुरगंज के थानाध्यक्ष महफूज आलम ने गांव जाकर मामले की जांच की। 16 साल की पीड़िता ने शुक्रवार को थाने में आठ पंचों के खिलाफ भी एक रिपोर्ट दर्ज कराई है, जो पंचायत करके घटना को रफा-दफा करने के लिए छात्रा और उसके परिवार पर दबाव डाल रहे थे। एसपी राजीव रंजन ने बताया कि जांच में सामने आ रहा कि पंचायत ने कानून के दायरे में काम नहीं किया। पंचायत विधिवत नहीं बुलाई गई थी और जिन लोगों के उसमें शामिल होने की बात सामने आ रही है उनपर कानूनी कार्रवाई होगी।

शनिवार को पुलिस धारा 164 के तहत पीड़िता का कोर्ट में बयान दर्ज करवाने गई लेकिन लोक अदालत का आयोजन होने के कारण बयान दर्ज नहीं हो सका। अब सोमवार को छात्रा का बयान दर्ज होगा। छात्रा प्रोजेक्ट कन्या उच्च विद्यालय में पढ़ती है। उसका पिता राजस्थान में मजदूरी करता है। मां गांव में रहती है। बड़ी बहन की शादी हो चुकी है और दो छोटे भाई हैं। छात्रा बताती है कि घटना के दिन उसकी मां खेत काटने गई थी। घर में वह अकेली थी। तभी रियाज अहमद ने उसके साथ दुष्कर्म किया। रियाज भी दसवीं का छात्र है लेकिन रिश्ते में छात्रा का मामा बताया जाता है। वह रसल उच्च विद्यालय का छात्र है। रियाज के तीन भाइयों गुल मोहम्मद, मुन्ना और महिनाज आलम ने भी उसके साथ मारपीट और जबरदस्ती की। रियाज का घर पड़ोस में है। घटना की जानकारी छात्रा ने मां को दी। मां ने शिकायत की तो रियाज के घरवालों ने निकाह कराने की बात कहकर मामले को पुलिस तक न ले जाने का दबाव दिया। लेकिन गांव में जब छात्रा के गर्भवती होने की बात फैली रियाज के परिजन निकाह की बात से मुकरने लगे। इसपर कई बार पंचायत बैठी लेकिन आरोपी पक्ष मामले को टालता रहा। इसबीच दुष्कर्म के आरोपी रियाज को गांव से भगा दिया गया और रुपए लेकर पीड़िता से मामले को रफा-दफा करने के लिए कहा जाने लगा। पीड़िता नहीं मानी तो धमकियां दी जाने लगीं। शुक्रवार को दर्ज कराई गई प्राथमिकी में उसने पंचायत के आठ लोगों पर भी धमकाने का आरोप लगाया है।

गत रविवार को गांव में नदी किनारे आखिरी पंचायत हुई जिसमें छात्रा के आरोप से रियाज अहमद के परिजन साफ मुकर गए। पंचायत में निकाह का प्रस्ताव रखा गया लेकिन रियाज के परिजन भरी पंचायत में छात्रा को ही लांछित करने लगे। उसी के चरित्र पर सवाल खड़े किए जाने लगे। छात्रा के परिजन बताते हैं कि पंचायत के लोग रियाज के पक्ष में खड़े हो गए हैं। इसके बाद छात्रा ने मंगलवार को महिला थाने में दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज कराई। पीड़िता कहती है कि दुष्कर्मी को वह जरूर सजा दिलाएगी। उसने 10वीं का फार्म भरा है लेकिन पिछले 10 दिनों से उसका स्कूल जाना बंद हो चुका है। मामला पुलिस में जाने के बाद गांव के लोगों ने मुंह बंद कर लिया है। 

क्या है मामला
- 10वीं की छात्रा को घर में अकेले पाकर रियाज अहमद ने दुष्कर्म किया, छात्रा सात माह की गर्भवती है
-शिकायत होने पर गांव के लोगों ने रियाज से निकाह कराने की बात कहकर मामले को दबा दिया
-दुष्कर्म का यह मामला सात माह तक टलता रहा। गांव में पंचायतें होती रहीं लेकिन छात्रा को न्याय नहीं मिला
- रविवार को हुई पंचायत में गरीब छात्रा को ही लांछित किया गया, निकाह की बात से आरोपी पक्ष मुकर गया
- महिला थाने में रियाज और उसके तीन भाइयों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज लेकिन अभी कोई गिरफ्तारी नहीं

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दुष्कर्म पीड़ित गर्भवती छात्रा ने स्कूल छोड़ा, दो पंच गिरफ्तार