DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोतियाबिंद आपरेशन कांड में 16 मरीजों को हुआ गंभीर नुकसान

पंजाब पुलिस ने गुरदासपुर के मोतियाबिंद आपरेशन कांड में नेत्र शिविर के आयोजक को आज गिरफ्तार कर लिया। इस शिविर में 130 लोगों का आपरेशन किया गया था जिनमें से करीब आधे मरीजों की आंखों की रोशनी चली गयी।

शिविर के समन्वयक मंजीत जोशी को आज गिरफ्तार कर लिया गया। उसे इस मामले में पहले हिरासत में लिया गया था। जोशी को बटाला में न्यायिक मजिस्ट्रेट निधि सैनी की अदालत में पेश किया गया जहां से उसे आठ दिसंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया।

इस बीच, एक शीर्ष सरकारी अधिकारी ने बताया कि 16 लोगों की आंखों को गंभीर नुकसान पहुंचा है। पीजीआईएमईआर चंडीगढ़ की एक विशेष टीम ने कल अमतसर में गवर्नमेंट आई और ईएनटी अस्पताल का दौरा किया। पंजाब के स्वास्थ्य विभाग के मुख्य सचिव विनी महाजन ने बताया,  कुल 25 मरीजों की जांच की गयी और 16 की आंखों की रोशनी को भारी नुकसान पाया गया।

हालांकि उन्होंने बताया कि पीड़ितों में से छह की आंखों की रोशनी उपचार के बाद लौट सकती है ।शिविर स्थल का दौरा करने वाली महाजन ने स्पष्ट किया कि पूर्ण अंधता का कोई मामला नहीं है क्योंकि आपरेशन केवल एक आंख का किया गया था।
    
उन्होंने बताया कि राज्य सरकार की ओर से अमतसर के संबंधित डाक्टरों और दिल्ली में एम्स के डाक्टरों के बीच सलाह मशविरे की व्यवस्था की गयी है ताकि प्रभावित मरीजों का बेहतर से बेहतर इलाज किया जा सके ।
    
अमृतसर के उपायुक्त रवि भगत ने बताया कि शहर के अस्पताल में 25 मरीजों को भर्ती कराया गया था और उनका इलाज किया जा रहा है। गुरदासपुर के घोमान गांव में पिछले महीने तीन दिवसीय नेत्र शिविर का आयोजन किया गया था जहां कुल 130 मरीजों का आपरेशन किया गया। इनमें से अधिकतर 60 वर्ष की आयु से अधिक और गरीब पष्ठभूमि के लोग थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मोतियाबिंद आपरेशन कांड में 16 मरीजों को हुआ गंभीर नुकसान