DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टोला सेवक अब साठ की उम्र तक करेंगे नौकरी: मांझी

जदयू महादलित प्रकोष्ठ की ओर से शनिवार को राजधानी स्थित मिलर स्कूल मैदान में डॉ. भीम राव अंबेडकर की 58वीं पुण्यतिथि पर बड़ा जुटान हुआ। खचाखच भरा मैदान और बाहर उमड़ी भीड़ जदयू को सुकून देने वाली थी। मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने इसे भांपते हुए यह कहा भी कि उन्हें संतोष इस बात का है कि जिसके लिए वह कभी-कभी जानबूझकर कुछ बोल डालते हैं उस तक उनकी बात पहुंच गई है।

इस मौके पर शोर कर रहे टोला सेवकों को मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया कि टोला सेवक अब साठ वर्ष तक नौकरी करेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भीड़ को संकल्प दिलाया कि भाजपा के कनफुंकवा लोगों को सही तरीके से समझा देना है। अश्वमेघ यज्ञ का जो घोड़ा चला है उसे यहीं रोकना है।

मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान पर प्रहार करते हुए कहा कि पहले वह अपने दिमाग की सफाई करें। प्लेटफार्म नहीं उन्हें हरिजन बस्ती की सफाई करानी चाहिए। कहा कि बिहार में उनकी सरकार प्रत्येक राजस्व ग्राम में पांच से आठ हजार रुपए पगार पर 45 हजार सफाईकर्मियों की नियुक्ति करेगी। इसके लिए राशि का इंतजाम हो गया है। अभी तक सिर्फ ग्रामीण क्षेत्रों में वासविहीन गरीबों को जमीन देने का प्रावधान है। उनकी सरकार शहरी गरीबों को भी आवास के लिए पांच डिसिमल जमीन देगी। डॉ. भीम राव अंबेडकर के नाम पर दो अरब की लागत से फांउडेशन का निर्माण किया जाएगा। कैबिनेट की अगली बैठक में इस पर निर्णय ले लिया जाएगा। महादलित समाज के युवक-युवतियों को सिविल सेवा परीक्षा के लिए तैयार करने को दशरथ मांझी श्रम एवं नियोजन संस्थान स्थापित होगा। पटना में बन रहे इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर का नामकरण डॉ. भीम राव अंबेडकर के नाम पर होगा।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टोला सेवक अब साठ की उम्र तक करेंगे नौकरी: मांझी