class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुविधायुक्त बस स्टैंड बनाएं

सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को पटना में पथ परिवहन निगम के लिए तमाम सुविधाओं वाला नया बस स्टैंड बनाने का निर्देश दिया हैं। कोर्ट ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि जबतक निगम के लिए नया बस अड्डा नहीं बन जाता तबतक उसकी बसें बांकीपुर बस अड्डे से ही परिचालित होंगी। कर्मचारी संघों के वकील ए.के.शुक्ला से मिली जानकारी के आधार पर राज्य परिवहन कर्मचारी संघ के महासचिव विजयधारी कुमार ने बताया कि कोर्ट ने प्राइवेट ऑपरटरों द्वारा बांकीपुर बस अड्डे को बन्द करने संबंधी याचिका को भी खारिज कर दिया है।ड्ढr शुक्रवार को इस मामले पर सुनवाई के दौरान कोर्ट ने राज्य सरकार को निगम के लिए यात्रियों के ठहरने, पेट्रोल पम्प, वर्कशॉप और कार्यालय समेत तमाम सुविधाओं से युक्त नया बस स्टैंड बनाने का निर्देश दिया। गौरतलब है कि हार्डिग पार्क से बसों का परिचालन बन्द होने के बाद प्राइवेट ऑपरटरों ने वर्ष 2004 में निगम की बसों के भी शहर में प्रवेश पर रोक लगाने की मांग की थी जिसपर कोर्ट ने 1 अक्तूबर, 04 को ही निगम को अंतरिम राहत दे दी थी।ड्ढr ड्ढr खाद्य सुरक्षा मिशन की कई योजनाएं संशोधितड्ढr पटना (हि. ब्यू.)। सरकार ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के तहत चलाई जाने वाली कई योजनाओं को संशोधित किया है। योजनाओं में संशोधन किसानों के हित को ध्यान में रखकर किया गया है। पहले उन्हीं जिलों के हाईब्रीड बीज उत्पादन करने वाले किसानों को अनुदान मिलता था जो जिले मिशन के तहत चयनित हैं।ड्ढr सरकार ने इसमें परिवर्तन करते हुए इस योजना को राज्य के सभी जिलों के किसानों के लिए लागू कर दिया है। शर्त यही है कि बीज उत्पादक को बीज उसी जिले में आपूर्ति करनी होगी जो जिले मिशन के तहत चयनित हैं। इस योजना में किसानों को एक हाार रुपये प्रति क्िवंटल की दर से अनुदान देने का प्रावधान है। इसके अलावा सरकार ने अनुदान देने के लिए पंप सेटों की निर्धारित शक्ति को भी दोगुनी कर दिया है। पहले सिर्फ पांच एचपी के पंपसेट पर अनुदान मिलता था।अब दस एचपी के पंपसेट खरीदने पर भी पचास पतिशत अनुदान मिलेगा। हालांकि सरकार ने अनुदान के लिए पहले से तय अधिकतम दस हाार की राशि को नहीं बढ़ाया है। किसानों को मिनी कीट में दिये जाने वाले बीज की मात्रा भी दोगुनी कर दी गई है। पहले कीट में पांच किलो ही बीज दिया जाता था। अब किसानों को दस किलो बीज दिया जाएगा। विभाग के सूत्रों ने बताया कि सरकार ने यह निर्णय लिया है कि मिनी कीट में मिलने वाला बीज हर मौसम में अलग-अलग किसान को दिया जाएगा। इससे अधिक किसानों को लाभ मिलेगा।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सुविधायुक्त बस स्टैंड बनाएं