DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मानगो में राशिद की गोली मारकर हत्या

मानगो सहारा सिटी के डुपलेक्स पर्ल 123 निवासी राशिद खान की शुक्रवार की रात गोली मारकर हत्या कर दी गयी। उसके सीने में सटाकर एक गोली मारी गयी है। वह दस दिनों पहले ही जेल से छूटकर आया था। उस पर मानगो के सहारा सिटी परिसर में हंगामा करने का आरोप था। पुलिस के अनुसार शुक्रवार की दोपहर में भी उसने कई घरों में जाकर हंगामा किया था।

ऐसे मिली जानकारी
पुलिस के अनुसार, रात सवा दस बजे एक फोन आया कि रोड नंबर 15 पुराना केरला पब्लिक स्कूल के गेट के सामने एक युवक का शव पडम है। पुलिस मौके पर पहुंची तो वहां एक युवक गिरा मिला। वहीं, पास में पानी की बोतल और मिठाई के पैकट गिरे हुए थे। राशि को उठाकर तुरंत मोबाइल गाड़ी एमजीएम अस्पताल ले गयी, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। गोली राशिद के सीने से सटाकर मारी गयी है।

सहारा सिटी व आसपास में मचा रखा था आतंक
पुलिस के अनुसार, राशिद ने पिछले कई दिनों से मानगो के सहारा सिटी और आसपास के इलाकों में आतंक मचाकर रखा था। इसे लेकर सहारा सिटी में हंगामा भी हुआ था। हंगामा के बाद लोगों ने उसे घर में घेर लिया था। अपने आप को घिरा देख उसने मौजूद पुलिस पर पथराव भी किया था, जिसके बाद लोगों ने उसकी पिटाई कर दी थी। पिटाई से घायल राशिद को टीएमएच में भर्ती किया गया था। ठीक होने के बाद वह जेल चला गया था।

जेल से छूटने के बाद देता था धमकी
जेल से छूटकर आने के बाद उसने सहारा सिटी और आसपास के लोगों को धमकी देना शुरू कर दिया था। शुक्रवार को भी उसने कॉलोनी में एक फ्लैट मालिक के साथ गालीगलौच की थी व एक ट्रांसपोर्टर के घर जाकर धमकी दी थी। स्थानीय लोगों ने पुलिस अधिकारियों को उसके आतंक के बारे में सूचना दी थी और शुक्रवार को पुलिस ने उसके घर पर छापेमारी भी की थी।

एनएसयूआई में था राशिद
राशिद खान आरडी टाटा हाई स्कूल और करीम सिटी कॉलेज का पूर्व छात्र रह चुका है। उसने छात्र जीवन में एनएसयूआई की राजनीतिक भी की है। राजनीतिक जीवन के बाद वह खाड़ी के देश में नौकरी करने चला गया। नौकरी के दौरान ही उसने सहारा सिटी में डुपलेक्स खरीद कर रहने लगा। कुछ दिनों में उसने सऊदी अरब की नौकरी छोड़ दी और जमशेदपुर आकर रहने लगा।

पत्नी प्रताड़ना में गया जेल
पिछले साल पत्नी को प्रताड़ित करने के आरोप में जेल गया था,  लेकिन समझौते के बाद उसे न्यायालय से जमानत मिल गयी थी। मानगो पुलिस के अनुसार जेल से आने के बाद भी वह पत्नी और परिवार के अन्य सदस्यों को प्रताड़ित किया करता था।

घटनास्थल पर खून पसरा मिला
जहां राशिद का शव पाया गया है वहां थोड़ी दूरी में खून पसरा मिला है। लोगों की माने तो हत्यारे ने उसकी कहीं और हत्या की और शव को वहां लाकर फेंक दिया। दूसरी ओर, यह भी बताया जा रहा है कि गोली बाहर नहीं निकलने के कारण खून शरीर से कम निकला है।

मौके पर पहुंचे सिटी एसपी
हत्या की जानकारी मिलते ही सिटी एसपी कार्तिक एस., डीएसपी वीरेंद्र यादव, मानगो थाना प्रभारी लक्ष्मण प्रसाद मौके पर पहुंचे। उन्होंने घटनास्थल का जायजा भी लिया। डीएसपी वीरेंद्र यादव राशिद खान के सहारा सिटी स्थित उसके घर भी गए, लेकिन घर पर ताला लगा हुआ था। पुलिस ने वहां बताया कि राशिद की पत्नी अपने मायके में रहती है, जबकि उसकी मां राशिद के जेल जाने के बाद अपनी बेटी के पास सउदी अरब चली गयी है। राशिद दो भाइयों में बड़ा था। वह संपन्न घर से है। नशे का आदी होने और अक्सर हंगामा करने के कारण सभी उससे दूर रहते थे।

हत्या का मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। परिवार के सदस्यों से संपर्क किया जा रहा है। सीने में एक गोली लगने की बात बतायी जा रही है- कार्तिक एस. सिटी एसपी जमशेदपुर

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मानगो में राशिद की गोली मारकर हत्या