DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुख्यात अंशू दीक्षित आखिरकार एसटीएफ के हत्थे चढ़ा

लखनऊ में हुई सीएमओ डॉ.बीपी सिंह की हत्या के बाद सुर्खियों में आया कुख्यात अंशू दीक्षित आखिरकार एसटीएफ के हत्थे चढ़ ही गया। उस पर मध्य प्रदेश पुलिस ने दस हजार और यूपी पुलिस ने पांच हजार रुपए का इनाम घोषित कर रखा था।

एसटीएफ के अनुसार कुछ दिनों से उसने पूर्वाचल में ठिकाना बनाया था। इस बीच गोरखपुर के एक बड़े राजनीतिज्ञ की हत्या की सुपारी ली थी। गोरखपुर में लोकेशन मिलने के बाद दो-तीन दिन से एसटीएफ सक्रिय हो गई थी। गुरुवार रात करीब 11.30 बजे गोरखनाथ थाना क्षेत्र में दस नंबर बोरिंग के पास उसकी लोकेशन एसटीएफ को मिली। इसके फौरन बाद सीओ विकास चंद त्रिपाठी के नेतृत्व में एसटीएफ मौके पर पहुंची तो उसने उसने असलहा निकाल फायर झाेंक दिया। तीन महीने पहले भोपाल में मात खा चुकी एसटीएफ ने इस बार कोई चूक नहीं की और जवाबी कार्रवाई करते हुए उसे दबोच लिया।

उसके पास से एक 7.65 एमएम की पिस्टल, 315 बोर का कप्ता, दोनों असलहों के आधा दजर्न कारतूस, फर्जी वोटर पहचान पत्र, आधार कार्ड, डीएल और एक मोबाइल बरामद किया गया है। उसने बताया कि मौजूदा समय वह सीतापुर कोतवाली क्षेत्र में आंख के अस्पताल के पास रहता था। गोरखनाथ थाने में उसके खिलाफ पुलिस टीम पर हत्या की नीयत से फायर करने, धोखाधड़ी व जालसाजी की रिपोर्ट दर्ज की गई है।


सीतापुर जिले के मानपुर थाना क्षेत्र के कुड़ेराबनी का रहने वाला सुमित उर्फ अंशू दीक्षित सुपारी किलर के रूप में जाना जाता है। 2007 में गोरखपुर के पार्षद फैजी की लखनऊ में दिनदहाड़े हत्या के आरोपी अंशू का नाम लखनऊ में हुई सीएमओ डॉ.बीपी सिंह की हत्या में भी आया था। हालांकि उस समय वह लखनऊ जेल में था। पुलिस ने उसे साजिशकर्ता माना था, जबकि सीबीआई ने उसे इस मामले में क्लीनचिट दे दी थी।

इस बीच 17 अक्तूबर 2013 को वह लेखनऊ जेल से पेशी से लौटते समय सीतापुर रेलवे स्टेशन पर दो सिपाहियों को जहरीला पदार्थ खिला कर भाग निकला था। उसने मध्य प्रदेश के भोपाल में लखनऊ एसटीएफ के दारोगा संदीप मिश्र व भोपाल क्राइम ब्रांच के सिपाही राघवेन्द्र पाण्डेय को तब गोली मार दी थी, जब दोनों सटीक सूचना पर उसे दबोचने पहुंचे थे। तभी से वह मोस्ट वांटेड था और दोनों प्रदेशों की पुलिस ने उस पर इनाम घोषित किया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कुख्यात अंशू दीक्षित आखिरकार एसटीएफ के हत्थे चढ़ा