DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कश्मीर में दहशत फैलाने पर आमादा हैं बौखलाए आतंकी

कश्मीर में दहशत फैलाने पर आमादा हैं बौखलाए आतंकी

जम्मू कश्मीर जनता विधानसभा चुनाव के दौरान लोकतंत्र में बढ़ा-चढ़ा भागीदारी दिखा रही है, इससे बौखलाए आतंकी दहशत फैलाने आमदा हैं। राज्य में चुनाव की प्रक्रिया शुरू होने के बाद अब तक 10 से ज्यादा आतंकी हमले और बड़ी घुसपैठ की कोशिशें हो चुकी हैं।

जम्मू कश्मीर में चुनाव का ऐलान होने के बाद से ही पाकिस्तान सीमा की ओर से आतंकियों की घुसपैठ की कोशिश जारी है। पहले चरण में 25 नवंबर को बंपर मतदान के बाद 26-27 नवंबर को पाक  सीमा पर आतंकवादियों ने घुसपैठ की कोशिश शुरू कर दी थी। इन्ही तारीखों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के साथ दक्षेस शिखर सम्मेलन में काठमांडू में मौजूद थे।

मिला था खुफिया अलर्ट : पहले चरण में बंपर मतदान के बाद आतंकवादियों की ओर से किए जा रहे हमलों को देखते हुए खुफिया एजेंसियों ने बाकी चरणों के मतदान को लेकर हाई अलर्ट का संदेश भी जारी किया था। अलर्ट के मुताबिक आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा घाटी में शांति भंग करने की फिराक में है। यह भी जानकारी मिली थी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के श्रीनगर दौरे से पहले आतंकी यहां माहौल बिगाड़ने की कोशिश कर सकते हैं। इस जानकारी के बाद एंटी-सेबोटैज टीम को भी अलर्ट किया गया था।

पीएम के दौरे में बदलाव नहीं
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 8 दिसंबर को श्रीनगर और अनंतनाग का दौरा करने वाले हैं। शुक्रवार को हुए आतंकी हमले के बावजूद प्रधानमंत्री दौरे में फिलहाल को रद्दोबदल नहीं किया जा रहा है। कश्मीर घाटी में मोदी दो चुनावी रैलियों को संबोधित करेंगे।
प्रधानमंत्री आठ दिसंबर को श्रीनगर के शेर-ए-कश्मीर क्रिकेट स्टेडियम में एक चुनावी रैली को संबोधित करने वाले हैं। शहर में पहले ही सुरक्षा कड़ी कर दी गई है और सुरक्षाबल शहर में आने वाले वाहनों की तलाशी ले रहे हैं।

हालिया घुसपैठ और आतंकी हमले
02 दिसंबर 2014 : कुपवाड़ा जिले के नौगाम सेक्टर में सुरक्षा बलों ने आतंकियों द्वारा की जा रही घुसपैठ की एक बड़ी कोशिश नाकाम करते हुए छह आतंकवादियों को मार गिराया। सेना का एक जवान भी शहीद। ( यहां 2 दिसंबर को डाले गए वोट )

30 नवंबर 2014 :
जम्मू एवं कश्मीर के शोपियां जिले में आतंकियों ने एक सरपंच की हत्या कर दी। आतंकवादियों ने नाजिमपुरा गांव के सरपंच मुहम्मद सुल्तान जो नेशनल कान्फ्रेंस से ताल्लुक रखते थे, को नजदीक से गोली मार कर हत्या कर दी। ( यहां 14 दिसंबर को चौथे चरण में होना है मतदान)

29 नवंबर 2014 : जम्मू कश्मीर में चुनावी फिजा को बिगाड़ने के लिए आतंकियों ने श्रीनगर के लाल चौक इलाके में ग्रेनेड फेंककर हमला किया। हमले में महिलाओं और बच्चों समेत 9 लोग घायल हो गए। हमले में सीआरपीएफ के बंकर को निशाना बनाया गया। ( 14 दिसंबर को होना है चुनाव)

28 नवंबर 2014  : अरनिया सेक्टर में 32 घंटे बाद दूसरे दिन मुठभेड़ खत्म हुआ। इसमें 4 आतंकी मारे गए। जबकि तीन जवान समेत आठ लोगों की जान चली गई। इसी दिन प्रधानमंत्री ने उधमपुर में रैली को संबोधित किया।

27 नवंबर 2014 : पीएम नरेंद्र मोदी के जम्मू दौरे से एक दिन पहले अरनिया सेक्टर में आतंकियों ने हमला किया। अंधाधुंध फायरिंग में चार लोगों की मौत हो गई। सेना की वर्दी में आए इन आतंकियों से मुठभेडम् में तीन जवान शहीद हो गए।
( जम्मू क्षेत्र में 20 दिसंबर को चुनाव)

26 नवंबर 2014 : पुंछ जिले में सेना ने 48 घंटे के दरम्यान आतंकी घुसपैठ की दो बडम्ी कोशिशों को नाकाम किया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काठमांडू में दक्षेस शिखर सम्मेलन में हिस्सा ले रहे थे।
( पुंछ में 2 दिसंबर को चुनाव हुए)

24 नवंबर 2014 : रात आठ बजे त्राल में सेना के जवानों पर घात लगाए आतंकियों ने फायरिंग कर दी। जवानों ने भी जवाबी फायर किया। गोलीबारी में खुद को फंसता देख आतंकी भाग निकले।
( त्राल में 9 नवंबर को होना है चुनाव)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कश्मीर में दहशत फैलाने पर आमादा हैं बौखलाए आतंकी