DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीजन के पहले कोहरे में थमी ट्रेनों की रफ्तार

रेलवे ट्रैक के आसपास कोहरा शुक्रवार को मुसीबत का सबब बना। 80 और 100 किलोमीटर की रफ्तार से चलने वाली ट्रेनें रेलवे ट्रैक पर 10 की रफ्तार में रेंगती रहीं। हालात ऐसे रहे कि जिस ट्रेन को लोग पकड़ने सुबह रेलवे स्टेशन पहुंचे, वह शाम को जंक्शन पहुंची। प्लेटफॉर्म और इंक्वायरी काउंटर के चक्कर लगाते हुए लोग परेशान हुए।


शुक्रवार को सीजन का पहला कोहरा सफर करने वालों के लिए मुसीबत का कारण बना। कोहरा दिखते ही ट्रेनों की रफ्तार को कॉशन पर लिया गया। 10 की स्पीड में ट्रेनें ट्रैक पर चलने लगी। दोपहर 12 बजे तक हावड़ा दिल्ली रूट पर घना कोहरा दिखाई दिया। हालांकि 12 बजे के बाद जब कोहरा छटा तो थोड़ी राहत हुई लेकिन तब तक ट्रेनें काफी लेट हो चुकी थीं। प्रयागराज, संगम, झारखंड जैसी ट्रेनों में अपने परिचितों के रिसीव करने जो लोग जंक्शन पहुंचे उन्हें घंटों इंतजार करना पड़ा। आनंद विहार से हटिया जा रही झारखंड एक्सप्रेस से हटिया जाने के लिए जंक्शन पहुंचे विनोद पांडेय दोपहर 12 बजे रिजर्वेशन कैंसिल कराने पहुंचे। उन्होंने कहा कि सुबह साढ़े चार बजे आने वाली ट्रेन दोपहर तक नहीं आई। हर बार यही बताया जा रहा है कि ट्रेन एक से दो घंटे में पहुंचेगी। अब अगले दिन सफर करेंगे। नार्थ ईस्ट से दिल्ली जाने वाले दीनानाथ 12 बजे ट्रेन का इंतजार कर घर लौट गए। उन्होंने कहा कि तीन घंटे से स्टेशन पर गुजारने के बाद हिम्मत नहीं है सफर करने की।


देरी से चलीं यह ट्रेनें
ट्रेन नंबर  ट्रेन का नाम  कहां से कहां तक देरी घंटे में
12505  नार्थ ईस्ट गुवाहाटी से आनंद विहार टर्मिनल 10
15483  महानंदा  दिल्ली से अलीपुरद्वार 16
15484  महानंदा  अलीपुरद्वार से दिल्ली 11
2818  झारखंड आनंद विहार से हटिया  12
12418 प्रयागराज नई दिल्ली से इलाहाबाद  2.5
12311 कालका हावड़ा से कालका 4.20
12401 मगध  गया से दिल्ली  11.30
12321 मुम्बई मेल हावड़ा से मुम्बई  03
12502  संपर्क क्रांति नई दिल्ली से गुवाहाटी 06
18101 मुरी  टाटानगर से जम्मूतवी  04
14512 नौचंदी सहारनपुर से इलाहाबाद 5.30

14164  संगम  मेरठ सिटी से इलाहाबाद 3.15

ट्रेनों में नहीं मिला खाना
ट्रेनों के लेट आने का सबसे बड़ी परेशानी खाने-पीने की रही। इलाहाबाद से चलने वाली ज्यादातर ट्रेनों में पेंट्रीकार नहीं है। प्रयागराज, संगम, नौचंदी से जाने वाली मुसाफिरों को सुबह की चाय तक नसीब नहीं हुई। ट्रेनें ऐसी-ऐसी जगह पर रुकी रहीं कि लोग परेशान हुए। प्रयागराज से इलाहाबाद आने वाले नसीम अहमद ने बताया कि इलाहाबाद जंक्शन ट्रेन रुकी तो सबसे पहले चाय पी, क्योंकि ठंड बहुत ज्यादा थी।

दो स्टेशनों के बीच एक ट्रेन
कोहरा दिखते ही रेलवे ने ऑटोमेटिक सिग्नलिंग प्रणाली को बंद कर दिया। इसके स्थान पर सेमी ऑटोमेटिक सिग्नलिंग प्रणाली पर काम किया गया। इसके तहत दो स्टेशनों के बीच दो ट्रेनों को चलाया गया। ऐसा सुरक्षा के लिहाज से किया गया। जिससे कोहरे के कारण कोई दुर्घटना न हो।

पुटबैक हुई नौचंदी
देरी से आने के कारण इलाहाबाद से सहरानपुर जाने वाली नौचंदी को पुटबैक किया गया। ट्रेन शाम 5:30 के बजाए शाम सात बजे इलाहाबाद जंक्शन से छूटी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीजन के पहले कोहरे में थमी ट्रेनों की रफ्तार