DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

घूस लेते वाणिज्य कर उपायुक्त गिरफ्तार

रांची के वाणिज्य कर उपायुक्त प्रमोद कुमार सिन्हा को शुक्रवार को 50 हजार रुपया घूस लेते उनके कार्यालय से दबोच लिया गया। निगरानी ब्यूरो की टीम ने घूस के रूप में ली गई राशि बरामद की। इसके बाद उनके कडरू स्थित आवास की तलाशी ली गई। वहां से करीब सात लाख रुपए नगद और 10 लाख रुपए के जेवरात बरामद होने की सूचना है। समाचार लिखे जाने तक उनके आवास को निगरानी की टीम सर्च कर रही थी।

ज्वेलरी दुकानदार से ले रहे थे घूस: ओल्ड हजारीबाग रोड के श्रृष्टि कांप्लेक्स में सामंता प्रॉपर्टी ज्वेलरी (एसपीजी) नामक दुकान है। इसके मालिक एसके सामंता हैं। वर्ष 2011-12 और वर्ष 2012-13 के एसेसमेंट के लिए वह जब कचहरी चौक स्थित वाणिज्य कर विभाग के कार्यालय पहुंचे, तो उन्हें बताया गया कि इस काम के लिए उन्हें एक लाख रुपया घूस देना होगा। तभी फाइल पर वाणिज्य कर के उपायुक्त हस्ताक्षर करेंगे। इसकी सूचना एडीजीपी नीरज सिन्हा को दी गई।

उन्होंने डीएसपी मिथिलेश कुमार सिंह के नेतृत्व में टीम गठित की। इसमें इंस्पेक्टर कलीमुद्दीन और अन्य अधिकारी थे। सामंता के आरोपों की जांच के लिए एक इंस्पेक्टर उनका भाई बनकर प्रमोद कुमार सिंह से मिला। उसे भी कहा गया कि एक लाख से एक रुपया कम नहीं लेंगे। बाद में हर वर्ष के 25 हजार के हिसाब से 50 हजार में सौदा तय हुआ।

शुक्रवार को निगरानी की टीम शाम चार बजे वाणिज्य कर विभाग के कार्यालय पहुंची। वहां घूस लेते प्रमोद कुमार सिन्हा को गिरफ्तार कर  लिया गया। इसके बाद निगरानी की टीम ने कडरू के डीएवी स्कूल के पीछे मकान नंबर ए-3 को सर्च किया। यह मकान प्रमोद कुमार सिन्हा का है। निगरानी के एसपी विपुल शुक्ला भी मौके पर पहुंचे थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:घूस लेते वाणिज्य कर उपायुक्त गिरफ्तार