DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आदित्य हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा

सीआईए सेक्टर-30 पुलिस ने आदित्य हत्याकांड का खुलासा कर एक अभियुक्त को धर दबोचा। अदालत ने उसे दस दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। जिसकी निशानदेई पर फरार अन्य चार अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए दिल्ली के शाहदरा इलाके में छापेमारी की जा रही है। पुलिस का दावा है कि जल्द ही फरार अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

25 सितंबर की सुबह पुलिस ने एनएच चार स्थित भूजल भवन के समीप झाड़ियों से एक युवक का शव लहुलुहान अवस्था में बरामद किया था। जिसकी अज्ञात लोगों ने चोट मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने मृतक की पहचान सेक्टर-7 में रहने वाले सुरेश ठाकुर के 25 वर्षीय बेटे आदित्य के रूप में की थी। जिसके चेहरे और कान पर चोट के निशान थे। बीकॉम पास आदित्य ने 24 सितंबर को गुड़गांव में नौकरी ज्वाइंन की थी। शुरूआत में एक सप्ताह की ट्रेनिंग होनी थी। उस रात करीब दस बजे वह गुड़गांव से फरीदाबाद पहुंचा। जहां वह पैदल एनआईटी दशहरा मैदान की ओर आ रहा था। रास्ते में ऑटो में सवार पांच लोगों ने उसे अकेला देख उसे ऑटो में खींच लिया और लूटपाट की नीयत से चाकू की नोंक पर उसे झाड़ियों में ले गए। जहां उसके साथ मारपीट कर गला दबाते हुए उससे मोबाइल व 15 हजार रुपये लूट लिए।

लूटपाट के दौरान बदमाशों ने उस पर जमकर वार किए। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। वारदात को अंजाम देकर सभी बदमाश ऑटो से सवार होकर दिल्ली चले गए। सीआईए ने इस हत्याकांड का खुलासा करते हुए शाहरदा इलाके के जोहरी नगर में किराए पर रहने वाले मूल रूप से अलीगढ़ के गांव सडियाला के दीपू उर्फ दीपक को गिरफ्तार कर फरीदाबाद ले आई। जिसे अदालत में पेश कर दस दिन के रिमांड पर भेज दिया है, जबकि मुख्य अभियुक्त विनय के अलावा रफीक व उनके दो अन्य साथियों की तलाश जारी है। सीआईए इंचार्ज राजेंद्र सिंह ने दावा किया कि जल्द ही फरार अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आदित्य हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा