DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली में साध्वी निरंजना की रद्द हुईं रैलियां

दिल्ली में साध्वी निरंजना की रद्द हुईं रैलियां

भाजपा सांसद साध्‍वी निरंजना के विवादित बयान के बाद दिल्ली में उनकी रैलियां रद्द कर दी गई है। बयान के बाद भाजपा के पक्ष को मजबूती से रखा जा सके। इसके लिए गुरुवार को साधवी निरंजन ज्योति की रैली गोल मार्किट इलाके में रखी गई थी। पार्टी के नेता भी मान रहे थे कि ऐसा करने से विरोध में उठ रहे स्वरों को दबाया जा सकेगा। लेकिन देर शाम एकाएक पार्टी ने उनकी रैली को रद्द कर दिया। साधवी निरंजना उत्तर प्रदेश की फ्तेहपुरी सीट से सांसद हैं।

साधवी के बयान की वजह से पिछले दिनों से लगातार संसद में भी हंगामा चल रहा है। इस हंगामे की वजह से यह माना जा रहा था कि इस रैली में आकर भाजपा नेता अपना पक्ष रखेंगी और इससे भाजपा का रुख साफ होगा। इस रैली के लिए सुबह से ही गोल मार्किट इलाके के राजा बाजार चौक में तैयारियां चल रही थी और देर शाम तक पार्टी के कार्यकर्ताओं को इस बात की जानकारी नहीं थी कि सांसद साधवी निरंजन ज्योति इस रैली में आएगी या नहीं।  कार्यकर्ता आखिर तक वहां सांसद का इंतजार करते थे। साध्वी निरंजन ज्योति के गोल मार्किट पहुंचने की सूचना दिल्ली प्रदेश कार्यालय से जारी की गई थी। सूत्र बताते हैं कि नई दिल्ली से सांसद मीनाक्षी लेखी भी इसका विरोध कर रही थी। जिस वजह से यह रैली नहीं हुई।

जिसमें बताया गया था कि वे देर शाम को एक सभा को सम्बोधित करेंगी। बाद में पार्टी ने इस रणनीति में बदलाव किया और इस बैठक के लिए अलीगढ़ से सांसद सतीश गौतम को मैदान में उतारा। अंत में निरंजन ज्योति की व्यवस्तताओं का हवाला देते हुए इस रैली को रद्द कर दिया गया। निरंजन ज्योति को  दिल्ली में भाजपा के पक्ष में चुनाव के लिए मैदान में उतारा गया है। बताया जा रहा है कि केवल साध्वी की शहरी क्षेत्रो की सभा रद्द की गई है। मामले में सांसद रमेश विधूड़ी से बात की गई तो उन्होंने बताया कि दिल्ली में साध्वी की कोई सभा नहीं है। सुबह 11 बजे देहात के इलाकों में जाएंगे। हम शाम को इसकी रणनीति तय करेंगे। हमारी सभाएं शुक्रवार, शनिवार व रविवार से बढ़ेंगी।

हर जिले में महिलाओं को 10 हजार गृहणी को सदस्य बनाने का लक्ष्य
दिल्ली में अधिक से अधिक महिलाओं को भाजपा का सदस्य बनाया जा सके। इसके लिए  दिल्ली भाजपा ने महिला मोर्चा को प्रति जिले के हिसाब से 10 हजार गृहणियों को जोड़ने का लक्ष्य दिया गया है। पार्टी का मानना है कि ऐसा करने से ही दिल्ली में मिशन 60 का लक्ष्य पाने में मदद हासिल हो सकती है। प्रदेश कार्यालय में गुरुवार को महिला मोर्चा व अल्पसंख्यक मोर्चा के कार्यकर्ताओं की एक बैठक हुई। इस बैठक की अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने की। इस मौके में संगठन मंत्री विजय शर्मा, अल्पसंख्यक मोर्चा अध्यक्ष आतिफ राशिद व महिला मोर्चा अध्यक्ष कमलजीत सहरावत भी उपस्थित थी। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी ने हर मोर्चे को 1 लाख सदस्य बनाने का लक्ष्य दिया है और इस पर पार्टी तेजी से काम कर रही है। इस वजह से ही लगातार पार्टी के सदस्यों की संख्या बढम् रही है। उन्होंने कहा कि बुधवार को दिल्ली से नए सदस्यों की संख्या 11.34 लाख तक पहुंच गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिल्ली में साध्वी निरंजना की रद्द हुईं रैलियां