DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तिलक के बाद शादी से लड़की का इंकार

एक लड़की ने गांव की बहू बनने से इसलिए इनकार कर दिया है कि उक्त गांव में सुविधाओं का अभाव है। आश्चर्य यह है कि तिलक की रश्म अदा होने के बाद भी लड़की के दबाव पर वधू पक्ष ने अंतत: उसका ही साथ दिया और शादी तोड़ने का फैसला करते हुए तिलक का सामान वापस ले लिया।ड्ढr ड्ढr जानकारी के अनुसार सारण जिले के तरैया प्रखंड के नारायणपुर गांव निवासी व दिल्ली में पढ़ाई करने वाले एक युवक की शादी गत 25 अप्रैल को हाजीपुर क्षेत्र के इसमैला गांव में होनी थी। गत 22 अप्रैल को तिलकोत्सव की रश्म विधिवत अदा की गई किन्तु तिलकोत्सव के बाद जब तिलक में शामिल होने वाले अपने गांव वालों से लड़की को यह जानकारी मिली कि जहां उसकी शादी हो रही है, वहां सुविधाएं उपलब्ध नहीं हैं और उक्त गांव सुदूर देहाती क्षेत्र में आता है। इस पर उसने शादी करने से इनकार कर दिया। इस पर मजबूर होकर दूल्हे राजा के पिता को रविवार को वैशाली जिले की इसमैला पंचायत के एक प्रतिनिधि और तरैया थानाध्यक्ष अभिनंदन मंडल के समक्ष तिलक में मिली मारुति, 75 हाार रुपए एवं बर्तन समेत अन्य सामग्री वधू पक्ष को लौटाना पड़ा। भावी दूल्हे राजा की स्थिति यह है दिल के अरमा आंसुओं में बह गये, हम वफा कर के ..। इस पूर प्रकरण की चर्चा तरैया और आसपास के चौक-चौराहों पर भी हो रही है। मालूम हो कि नारायणपुर गांव तरैया प्रखंड मुख्यालय से करीब नौ किलोमीटर और सीमावर्ती मढ़ौरा प्रखंड मुख्यालय से आठ किलोमीटर की दूरी पर है और सड़क की हालत बिल्कुल जर्जर है। बिजली की आपूर्ति भी कुछेक घंटे के लिए होती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: तिलक के बाद शादी से लड़की का इंकार