DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डाक विभाग में बनेगी पांच कंपनियां

डाक विभाग में बनेगी पांच कंपनियां

देश में फैले करीब 1.6 लाख डाकघरों के नेटवर्क का बेहतर उपयोग कर भारतीय डाक की आर्थिक स्थिति को सुधारने के उद्देश्य से डाक विभाग के तहत बैंकिंग, बीमा और ई-कामर्स सहित पांच सहायक कंपनियां गठित करने की सिफारिश की गई है।

डाकघरों के नेटवर्क के बेहतर उपयोग पर गठित कार्यबल ने गुरुवार को संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद को अपनी रिपोर्ट सौंपी जिसमें ये सिफारिशें की गयी है। पूर्व कैबिनेट सचिव टी एस आर सुव्रमण्यम की अध्यक्षता वाले कार्यबल ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि डाक विभाग के तहत रणनीति कारोबारी इकाई के रूप में बैंकिंग, बीमा और ई-कामर्स कंपनियां बनायी जानी चाहिए। इसके साथ ही तीसरे पक्ष के उत्पादों के वितरण और आम लोगों से बिल संग्रह, आवेदन फार्मों, दस्तावेजों और प्रमाण पत्रों को व्यावसायिक सेवा के तहत पहुंचाने के लिए एक अन्य इकाई बनायी जानी चाहिए।

इसके अलावा आधार कार्ड राशन कार्ड विकास पत्रों जैसे सरकारी उत्पादों को पहुंचाने के लिए एक अलग इकाई बनाने की सिफारिश की गयी है। कार्यबल के अध्यक्ष ने कहा कि पोस्ट बैंक आफ इंडिया वित्तीय समावेशन में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है, क्‍योंकि देश के छह लाख गांव में से अधिकांश में वित्तीय सेवाओं की पहुंच नहीं हैं।

रिपोर्ट में कहा गया है कि इन सभी इकाइयों के लिए अलग-अलग निदेशक मंडल होना चाहिए ताकि उनका परिचालन व्यावसायिक इकाई के रूप में हो सके। यह भी कहा गया है कि आगे चलकर इन सभी इकाइयों में सार्वजनिक निर्गम के तहत आम लोगों की भागीदारी हो सकती है। इनको शुरू करने के लिए नया डाक कानून बनाने का भी प्रस्ताव किया गया है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डाक विभाग में बनेगी पांच कंपनियां