DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी के बरेली में लाश लटकाए दौड़ता रहा इंजन

सीतापुर से शाहजहांपुर जा रही माल गाड़ी इंजन पर लटकी युवक की लाश के साथ 35 किलोमीटर तक दौड़ती रही और किसी की नजर उस पर नहीं पड़ी। लाश को इंजन पर मफलर के सहारे बांधा गया था। मैगलगंज आउटर पर सिग्नल न मिलने पर जब मालगाड़ी रुकी तो ड्रइवर को लाश लटकने का पता चला। लाश देखकर ड्राइवर और उसका सहायक गाड़ी छोड़कर भाग खड़े हुए। पुलिस ने लाश कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दी है। बाद में ड्राइवर लौट आया और गाड़ी को रवाना किया गया।

बाद में लाश की शिनाख्त मैगलगंज के एक युवक के रूप में हुई है।
सीतापुर से एक मालगाड़ी गुरुवार को शाहजहांपुर के लिए जा रही थी। दोपहर चार बजे मालगाड़ी मैगलगंज के आउटर पर सिग्नल न मिलने के कारण रुक गई। जब गाड़ी खड़ी हुई तो वहां से गुजर रहे लोगों की निगाह इंजन के काउकैचर के ऊपर लटकती हुई युवक की लाश पर पड़ी। ग्रामीणों ने शोर मचा दिया। हालात की नजाकत भांपते हुए ट्रेन के ड्राइवर और सहायक इंजन से उतरकर भाग गए। मामले की जानकारी होने पर मैगलगंज रेलवे स्टेशन से मुरादाबाद कंट्रोल रूम को खबर दी गई। कंट्रोल रूम से एसपी खीरी को सूचना दी गई। इसके बाद स्थानीय पुलिस ने आउटर पर पहुंचकर शव को कब्जे में ले लिया।

मफलर से लटकी थी लाश
एसओ मैगलगंज आनंद शाही ने बताया कि युवक के गले में मफलर फंसा हुआ था और उसकी नाक से हल्का खून निकल रहा था। गुरुवार शाम युवक की शिनाख्त मिहिपाल निवासी बरदहा थाना मैगलगंज के रूप में हुई है। पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है। अभी तक यह साफ नहीं हो सका है कि युवक इंजन के आगे कैसे लटक गया। बाद में ड्राइवर और सहायक लौट आए ।  30 मिनट तक रोके जाने के बाद ट्रेन शाहजहांपुर के लिए रवाना कर दी गई है। स्टेशन मास्टर आलोक शुक्ला ने बताया कि लिखा-पढ़ी रोजा जीआरपी थाने में कराई जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूपी के बरेली में लाश लटकाए दौड़ता रहा इंजन