DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केंद्र के खिलाफ धरना देगा जनता परिवार

केंद्र के खिलाफ धरना देगा जनता परिवार

भारतीय जनता पार्टी का मुकाबला करने के लिए जनता परिवार एक बार फिर एकजुट हो गया है। जनता दल का हिस्सा रही छह पार्टियों ने एक होने पर सहमति जताई है। विलय की रुपरेखा तैयार करने की जिम्मेदारी सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव को सौंपी गई है। मुलायम सिंह यादव इस संबंध में समान विचारधारा वाली अन्य राजनीतिक पार्टियों से भी संपर्क करेंगे।

समाजवादी पार्टी अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव की अगुआई में हुई बैठक में जनता दल (एस) के अध्यक्ष एचडी देवगौडा, राजद के लालू प्रसाद यादव, जद(यू) अध्यक्ष शरद यादव और नीतीश कुमार, इनलो दुष्यंत चौटाला और समाजवादी जनता पार्टी के कमल मोरारका शामिल हुए। करीब ढमई घंटे तक चली इस बैठक के बाद जद(यू) अध्यक्ष शरद यादव ने कहा कि हम एक पार्टी बनने पर सहमत है। इसकी जिम्मेदारी सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह को सौंपी गई हैं।

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि जनता परिवार के छह पूर्व घटकों ने सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव को आपस में विलय की रूपरेखा बनाने के लिए अधिकृत किया है। सभी पार्टियों की अगली बैठक 22 दिसंबर को होगी। इसी दिन जनता परिवार की सभी पार्टियों ने राजधानी में कालेधन, किसानों और बेरोजगारी की समस्या पर राजधानी में धरना देना का ऐलान किया है। ताकि, संसद के बाहर भी केंद्र की एनडीए सरकार को घेरा जा सके।

यह सवाल किए जाने पर कि विलय की घोषणा कब तक कर दी जाएगी, नीतीश कुमार ने कहा कि हमने सिद्धांतों के आधार पर एक होने का फैसला किया है। कुछ औपचारिकताएं बची है। मुलायम सिंह यादव को पार्टियों के एकीकरण की जिम्मेदारी दी गई है। इस बारे में वह सभी दलों के बात कर अगली बैठक में रुपरेखा पेश करेंगे। क्योंकि, पार्टियों के आपस में विलय की कई औपचारिकताएं पूरी करनी होती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:केंद्र के खिलाफ धरना देगा जनता परिवार