DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वाराणसी-क्योटो समझौते पर संचालन समिति का गठन

वाराणसी-क्योटो समझौते पर संचालन समिति का गठन

वाराणसी को जापान के क्योटो की तरह विकसित करने की दिशा में सरकार एक कदम और आगे बढ़ी है। शहरी विकास मंत्रालय ने वाराणसी व क्योटो के बीच पार्टनर सिटी संपर्क समझौता को लागू करने के लिए 11 सदस्यीय संचालन समिति का गठन किया गया है। समझौते के क्रियान्वयन पर आगे की बातचीत के लिए क्योटो के मेयर दैसाकू कोदोकावा इस माह के अंत में भारत आएंगे।

संचालन समिति की अध्यक्षता शहरी विकास मंत्रालय के सचिव करेंगे। समिति के सदस्यों में उत्तर प्रदेश के संबंधित विभाग के मुख्य सचिव या प्रधान सचिव, भारत पुरात्तव सर्वे (एएसआई) के महानिदेशक, केंद्र सरकार के संस्कृति, मानव संसाधन विकास, वित्त, विदेश व शहरी विकास मंत्रालय के संयुक्त सचिव स्तर के अधिकारी, वाराणसी के मेयर व नगर निगम आयुक्त और वाराणसी विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष या आयुक्त शामिल होंगे।

गौरतलब है कि दोनों शहरों के बीच पार्टनर सिटी संपर्क समझौता पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगस्त-सितंबर में हुई जापान यात्रा के दौरान हस्ताक्षर किए गए थे। समझौते के तहत संस्कृति, कला, धरोहर संरक्षण व आधुनिकता के क्षेत्रों में सहयोग का लक्ष्य निर्धारित किया गया था।

संचालन समिति के कार्य
1. वाराणसी का आधुनिकीकरण, जल प्रबंधन व सीवेज सुविधाओं का उन्नतिकरण, शहरी प्रबंधन आदि। इन कार्यो में जापान की विशेषज्ञता और तकनीकी सहायता ली जाएगी।
2. वाराणसी की समृद्ध सांस्कृतिक धरोहर के संरक्षण में जापान की तकनीक, प्रबंध प्रणाली व प्रक्रियाओं का प्रयोग।
3. जापान के क्योटो विश्वविद्यालय व भारत के बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के साथ धार्मिक संगठनों के बीच आदान-प्रदान।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वाराणसी-क्योटो समझौते पर संचालन समिति का गठन